दो वक्त की रोटी के लिए अनाज लेने गए थे, लेकिन मिली मौत

mantosh singh

Publish: Apr, 22 2017 02:27:00 (IST)

chhindwara
दो वक्त की रोटी के लिए अनाज लेने गए थे, लेकिन मिली मौत

सहकारी समिति में आग से 13 जिंदा जले

हर्रई/छिंदवाड़ा (बीके पाठे) . हर्रई ब्लॉक की आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित वितरण केंद्र बारगी में दो वक्त की रोटी के लिए अनाज लेने कतार में खड़े लोगों ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि उन्हें अनाज के बदले मौत मिलेगी। घर में मौजूद परिवार के सदस्य सोच रहे थे कि परिजन अनाज लेकर लौटेंगे तब चूल्हा जलेगा और उन्हें खाना मिलेगा।

परिवार के सदस्य इंतजार ही करते रहे और उन्हें सूचना मिली कि वितरण केंद्र में लगी आग की चपेट में आने से कई लोगों की मौत हो गई है। आग की लपटें इतनी तेज थी कि आस-पास के लोग प्रयास करते रहे, लेकिन वे काबू नहीं पा सके। चीखें निकल रही थीं और लोग जिंदा जल रहे थे। 


बारगी वितरण केंद्र से कुछ ही दूरी से रहवासी क्षेत्र है, लोगों ने अपनी आंखों से मौत का मंजर देखा वह भी ऐसा जिसे वह खुद बता नहीं पा रहे थे। सूचना के बीस मिनट बाद मौके पर हर्रई की एक दमकल पहुंची और आग बुझाना शुरू किया। केंद्र में केरोसिन होने के कारण पानी की फुहारों से आग और भड़कती गई।  गांव के लोगों ने पहली बार मौत का ऐसा तांडव देखा। 

Image may contain: one or more people, people standing and outdoor

लगातार प्रयास के करीब एक घंटे बाद आग पर काबू पाया और रेस्क्यू शुरू किया तो केवल लाशें ही निकलती गईं। एक के बाद एक कर 13 शव निकाले गए जो पूरी तरह से आग में झुलस चुके थे। पहचान पाना मुश्किल था, किसी तरह शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हर्रई के शवगृह पहुंचाया गया। शव निकाले जाने के बाद भी वितरण केंद्र के हालात साफ बयां कर रहे थे कि हादसा कितना दर्दनाक था। 

Image may contain: outdoor, nature and water

गांव में केवल वाहनों का शोर 
हादसे के बाद बारगी गांव में पूरी तरह सन्नाटा पसर चुका था। प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के पहुंचने का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। गांव में केवल शोर वाहनों का था। हादसे के बारे में कोई भी बहुत अच्छी तरह से नहीं बता पा रहा था। मंजर ही कुछ ऐसा था कि देखने वाले भी दोबारा उसे शब्दों में बयां न कर पाए। चीख पुकार के बीच शव निकाले गए। बारगी गांव से हर्रई थाना, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और शवगृह तक इस दर्दनाक हादसे के निशान थे।  

Image may contain: one or more people and outdoor

मृतकों की सूची
संजय मालवी पिता सुरेश मालवी निवासी बारगी (25), रामसेवक पिता घनश्याम नवरेती(21) , कोमल पिता नित्तु डेहरिया निवासी बिछुआ (40), कम्मोबाई काशीराम डेहरिया निवासी बिछुआ, लच्छनिया  पति कुम्मा डेहरिया निवासी बिछुआ, राकेश कहार पिता घूपेलाल निवासी हर्रई, कृपाल पिता नित्तू डेहरिया निवासी बिछुआ, कुसुम बाई पति कुम्मा डेहरिया निवासी बिछुआ, 35 वर्षीय संतकुमार पिता विनोद डेहरिया निवासी बिछुआ, सिया बाई पति समन मरावी निवासी मुआरसानी, 35 वर्षीय गणेश मरावी पिता समन मरावी, प्रेमवती पति शिवफल उइके निवासी मुआरसानी, 22 वर्षीय संदीप डेहरिया पिता नारायण डेहरिया सावराकला शामिल हैं।

Image may contain: 5 people, people smiling, people standing

घायलों की सूची 
रज्जाक मंसूरी बारगी,मंजू मालवी निवासी बारगी,मनोज मालवी पिता सुरेश मालवी निवासी बारगी और शिवानी पिता अशोक डेहरिया निवासी बारगी शामिल हैं।

chhindwara

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned