राजघराने की सम्पत्ति राजसात और कुर्क करने की तैयारी

Vinod Yadav

Publish: Feb, 16 2017 08:41:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
राजघराने की सम्पत्ति राजसात और कुर्क करने की तैयारी

हर्रई नगर पंचायत घोटाला 

छिंदवाड़ा. हर्रई नगर पंचायत में करोड़ों रुपए की हेराफेरी के मामले में पुलिस जल्द ही हर्रई राजघराने की सम्पत्ति जब्त कर सकती है। इस मामले में चार आरोपियों में राजघराने से जुड़ीं माधवी शाह शामिल हैं। 

छिंदवाड़ा रेंज के डीआईजी डॉ. जीके पाठक ने इसके संकेत दिए हैं। उन्होंने पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी और एएसपी नीरज सोनी से मुलाकात की और गबन के मामले की तह में जाकर बारीकी से जांच करने के लिए निर्देशित किया है।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा ऑडिट कराया जा रहा है। ऑडिट के बाद मामला साफ हो जाएगा कि कितने रुपए का घोटाला हुआ है। इसके बाद आरोपियों की चल अचल सम्पत्ति जब्त कर कुर्की की जाएगी। 

डीआईजी का कहना है कि दो दिन बाद मामले की डायरी उन्हें मिल जाएगी। अब तक की जांच में नकद और चेक सहित ढाई करोड़ का घोटाला सामने आने के बाद पुलिस आरोपियों के साथ उनके परिजन के खाते भी खंगाल सकती है।

लेखापाल और संविदाकर्मी के खाते से की गई हेराफेरी
गौरतलब है कि हर्रई नगर पंचायत में हुए घोटाले  ढाई करोड़ रुपए का घोटाला सामने आ चुका है। स्पेशल ऑडिट होता है तो यह आंकड़ा कहां पहुंचेगा इसका भी अंदाजा लगाया जा सकता है। 

घोटाले में सवा करोड़ रुपए का नगद लेनदेन होना भी सामने आ चुका है। पूरी रकम की हेराफेरी लेखापाल धनश्याम यादव और संविदाकर्मी राहुल यादव के खाते से की गई है।  जांच अभी जारी है जिसमें और भी बड़े खुलासे की उम्मीद जताई जा रही है। 

सभी आरोपियों के बैंक खातों के दस्तावेजों की जांच के दौरान मंगलवार देर शाम तक घोटाले की रकम ढाई करोड़ रुपए तक पहुंच चुकी है। पुलिस की जांच और छानबीन अभी भी जारी है जिसमें और भी कई तथ्य सामने आ सकते हैं।

राहुल यादव और धनश्याम यादव के खातों से ही सबसे अधिक लेनदेन होना सामने आया है। दोनों आरोपियों के खातों से कुल सवा करोड़ रुपए कैश निकाला गया है। निकाली गई रकम का इस्तेमाल कहां और किस काम में किया गया है इसकी जानकारी हासिल करने में पुलिस टीम जुटी हुई है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned