ये बदल सकते है समाज की दिशा एवं दशा

mantosh singh

Publish: Mar, 20 2017 05:26:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
ये बदल सकते है समाज की दिशा एवं दशा

यह निराशाजनक बात है कि आज का युवा अपने भविष्य की चिंता में भय, हताशा और निराशा में जी रहा है।

छिंदवाड़ा . युवा राष्ट्र की सबसे बड़ी शक्ति है। युवाओं में समाज की दिशा और दशा बदलने का सामथ्र्य है। यह निराशाजनक बात है कि आज का युवा अपने भविष्य की चिंता में भय, हताशा और निराशा में जी रहा है। इसका मुख्य कारण है कि उसकी सोच सही नहीं है। हमें युवाओं की सोच को सकारात्मक, ऊर्जामान, अध्यात्मिक बनाना होगा, तभी समस्याओं का समाधान होगा। युवा चेतना संगोष्ठी में यह बात जिला संयोजक अटल खुर्वे ने कही।

गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ के सौजन्य से गायत्री चेतना केंद्र में रविवार को विशेष संगोष्ठी  आयोजित की गई। जिला समन्वयक महेश इवनाती ने कहा कि गायत्री परिवार की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचान में  समर्थ हो गए तो युग अवश्य बदलेगा। युवा जोड़ो अभियान के प्रभारी दहलाल चौकसी ने कहा कि युवाओं को नशामुक्त करके योग से जोडऩा होगा। उन्हें अध्यात्मिकता से जोडऩा होगा। नैतिक शिक्षा देकर चरित्र निर्माण करना होगा। बैठक में पंचमहाअभियान प्रभारियों ने अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की तथा भविष्य में और ऊर्जा, उमंग, उत्साह के साथ काम करने की बात कही।

संगोष्ठी में सुनील राय, मिश्रीलाल खादीपुरे, मंसलाल मरावी, उदयचंद नागवंशी, शिवराम आम्रवंशी, मंतोष सरयाम, ललित डेहरिया, मनीष बरमैया, ईश्वरसिंह परतेती, धनशा उइके समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned