युवक के सिर पर खड़ी थी मौत, देखने वालों को भी रोंगटे हो गए खड़े

rajendra sharma

Publish: Jul, 16 2017 05:52:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
युवक के सिर पर खड़ी थी मौत, देखने वालों को भी रोंगटे हो गए खड़े

चलती ट्रेन ने चढऩे के प्रयास में फिसला यात्री मौत के मुँह से लौटा


छिंदवाड़ा/नागपुर. कहते हैं कि किस्मत साथ हो तो बड़ी से बड़ी आपदा भी बिना नुकसान पहुंचा निकल जाती हैं। यहां एक युवक के साथ ऐसा ही कुछ हुआ।
नागपुर स्टेशन के प्लेटफार्म एक यात्री चलती ट्रेन में चढऩे के प्रयास में फिसला और सीधे ट्रेन के नीचे जा गिरा, लेकिन इससे पहले कि वह पहियों की चपेट में आता आरपीएफकर्मियों ने तत्पतरा दिखाते हुए उसे बचा लिया। जानकारी के अनुसार झांसी यूपी का निवासी अजय मिश्रा को राजधानी एक्सप्रेस 12433 से नागपुर से झांसी का सफर करना था। वह नागपुर में अपने अपने भाई से मिलने आया था।  

लापरवाही बनी वजह

रेलवे द्वारा हमेशा ही चलती ट्रेन में ना चढऩे की सलाह दी जाती जाती है। इसके बावजूद यात्री अपनी जान जोखिम में डालकर ऐसा प्रयास करते हैं। शुक्रवार को भी युवक अजय जब स्टेशन पहुंचा तो ट्रेन 15024 यशवंतपुर-गोरखपुर एक्सप्रेस प्लेटफार्म एक से रवाना होने वाली थी।  ट्रेन 15024 यशवंतपुर-गोरखपुर एक्सप्रेस और  राजधानी एक्सप्रेस 12433 के कोच का एक जैसो रंग होने के कारण अजय को लगा कि राजधानी एक्सप्रेस रवाना हो रही है।  ट्रेन ना छूटे इस चक्कर में अजय ने आरपीएफ थाने के सामने से ट्रेन में चढऩे का प्रयास किया।  हड़बड़ी में उनका पैर फिसल गया और वह सीधे ट्रेन के नीचे पटरियों पर जा गिरा।

किस्मत आई काम

जिस वक्त युवक पटरियों पर गिरा, उस समय ट्रेन की स्पीड बहुत कम थी और उसके गिरते ही अन्य यात्रियों ने बचाव-बचाव की आवाज लगानी शुरू कर दी। इस दौरान थाने में मौजूद आरपीएफ जवान विकास शर्मा और बीएस यादव ने दौड़कर चैन पुलिंग कर ट्रेन रोक दी। इसे किस्मत ही कहिए कि ट्रेन का पहिया अजय के ऊपर से गुजऱने ही वाला था, लेकिन चैन पुलिंग हो जाने से ट्रेन रुक गई और वह बच गया। इसके बाद आरपीएफ के जवानों ने अजय को सकुशल बाहर निकला और तुरंत प्राथमिक उपचार दिया। मौत के मुंह से लौटा अजय काफी समय तक सदमा रहा। सिनीयर डीएससी ने एसआई विद्याधर बघेल, एएसआई बघेल, एएसआइ यादव और पूरी आरपीएफ टीम को तत्परता दिखने के लिए बधाई दी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned