पटरी से उतरकर दो सौ मीटर तक घिसटती रही मालगाड़ी

akhilesh thakur

Publish: Jun, 19 2017 10:45:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
पटरी से उतरकर दो सौ मीटर तक घिसटती रही मालगाड़ी

रात्रि 1.10 बजे  संटिंग के दौरान हादसा, सुबह 8.30 बजे आई एआरटी

छिंदवाड़ा. रेलवे की सुरक्षा इन दिनों सवालों के घेरे में है।  गाडि़यों के पटरी से उतरने और पलटने की घटनाओं में इजाफा हुआ है। रविवार की देर रात छिंदवाड़ा में संटिंग के दौरान मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए। पटरी से उतरने के बाद करीब 200 मीटर तक डिब्बे घिसटते रहे। चालक की सूचना के बाद महकमे में खलबली मच गई। तत्काल इसकी सूचना अधिकारियों को दी गई। करीब आधे घंटे के अंदर मौके पर अधिकारियों और कर्मचारियों का जमावड़ा लग गया। सोमवार को  सुबह 8.30 बजे  एक्सिडेंट रिलीव ट्रेन (एआरटी) पहुंची।

train accident chhindwara

























उज्जैन से रविवार को प्याज की रैक लेकर मालगाड़ी छिंदवाड़ा आई थी। प्याज खाली करने के बाद रात में मालगाड़ी को यहां से रवाना किया जाना था। उसी समय यह हादसा हो गया। हादसे में मालगाड़ी के 16 व 26 नम्बर का डिब्बा पटरी से उतर गया। जिस जगह हादसा  हुआ , वहां नया टै्रक बिछाया गया था। मालगाड़ी के डिब्बे पटरी से उतरने के बाद घिसटते रहे।
सुबह छह बजे नागपुर से आया अधिकारियों का दल हादसे के कारण का पता लगाते दिखा। हालांकि कारण शाम तक बताया नहीं गया। डीएसओ, मुख्य अभियंता, डिप्टी मुख्य अभियंता, कार्यपालन यंत्री एसके मिश्रा, सहायक कार्यपालन यंत्री सहित दर्जनों अधिकारी मौके पर  रहे।



train accident chhindwara

























पेंचवैली निरस्त, पातालकोट में लगे दो इंजन
इस हादसे की वजह से इंदौर से आने वाली फॉस्ट पैसेंजर पेंचवैली को निरस्त करना पड़ा। यह ट्रेन परासिया में रोक दी गई। सरायरोहिल्ला नईदिल्ली से सुबह 9.35 बजे आने वाली पातालकोट एक्सप्रेस 45 मिनट लेट आई। इस ट्रेन को 3 नम्बर के नए प्लेटफॉर्म पर रोका गया। इस प्लेटफॉर्म की पटरिया पुरानी हैं। इस ट्रेन में दो इंजन लगकर आए थे। इसके पूर्व नए प्लेटफॉर्म पर ट्रेन के आने के समय पूजन-अर्चना कर उद्घाटन की औपचारिकता की गई।



इन बिंदुओं की हो रही जांच
मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से कैसे उतरा इसकी जांच चल रही है। इसमें रेलवे टै्रक की कमी, उसका मेंटेनेंस, प्वाइंट क्लैम किया गया था या नहीं, स्पीड की परमिशन कितनी है और कितनी स्पीड से चल रही थी, डिब्बों के नट-बोल्ट कसे थे या ढीले या कोई अन्य मशीनरी फाल्ट, आखिर क्यों 16 व 26 नम्बर के ही डिब्बे पटरी से उतरे आदि बिंदुओं को शामिल कर जांच की जा रही है।  


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned