ये कैसी मां... बेटियों से ही मांग ली परवरिश की कीमत

prabha shankar

Publish: Jun, 29 2017 11:51:00 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
ये कैसी मां... बेटियों से ही मांग ली परवरिश की कीमत

आखिरकार पिता ने ही दिया बेटियों का आसरा

छिंदवाड़ा . पति-पत्नी के आपसी विवाद और अलगाव का खमियाजा किस तरह से बच्चों को भुगतना पड़ता है बुधवार को बाल कल्याण समिति के सामने आए एक मामले में यह देखा जा सकता है। पति-पत्नी दोनों घरेलू विवाद के बाद अलग हो चुके हैं। उनकी दो बेटियां हैं। पिता दोनों बेटियों को अपने साथ भोपाल ले गया।

बेटियों की इच्छा थी कि मां-पिता में सुलह हो जाए तो सब साथ रहें, लेकिन दोनों में अलगाव  इस कदर था कि पिता बच्चियों की मां को रखने को तैयार नहीं है। पिता से जिद कर शुक्रवार को दोनों बच्चियां भोपाल से पांढुर्ना मां से मिलने निकली थीं। इधर पिता ने साफ कर दिया कि वापस आना तो अकेली ही आना, वरना मत आना। इधर दोनों बच्चियां मां के पास पांढुर्ना  पहुंचीं तो मां ने कहा कि पिता से भरण-पोषण का खर्चा मांगो तो ही साथ रखूंगी। हारकर दोनों बच्चियां पांढुर्ना थाने पहुंचीं और पुलिस को बात बताई। पुलिस ने भोपाल उसके पिता का नाम पता और नम्बर लेकर फोन किया और छिंदवाड़ा बुलवाया। नाबालिग बच्चियों के मामले को छिदंवाड़ा जिला मुख्यालय स्थित बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। पिता बुधवार को समिति के सामने आया।

समिति ने मां को भी बुलाया था, लेकिन वह नहीं आई। समिति के सदस्यों  ने पिता को समझाइश दी और दोनों बच्चियों को अपने साथ ले जाने को कहा। दोनों बच्चियां अब पिता के साथ ही रहेंगी। वो ही उनकी देखभाल और शिक्षा की व्यवस्था करेगा। कार्यवाही के दौरान समिति की  अध्यक्ष शबनम खान, सदस्य अनुभूति सिन्हा, श्यामलराव, गजेंद्र रघुवंशी व अन्य उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned