चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत की हार के बाद भारतीय खिलाड़ियों से पाकिस्तानी ने कहा- ''बाप कौन है'', सुनते ही पीटने को दौड़े भारतीय खिलाड़ी शमी

Cricket
चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत की हार के बाद भारतीय खिलाड़ियों से पाकिस्तानी ने कहा- ''बाप कौन है'', सुनते ही पीटने को दौड़े भारतीय खिलाड़ी शमी

जब भारतीय टीम मैच ख़त्म कर अपने ड्रेसिंग रूम में जा रहे थे तब कुछ पाकिस्तानी फैंस ने भारतीय खिलाडियों के साथ जो बर्ताव किया वो बर्दास्त के बाहर था...

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया को पाकिस्तान ने 180 रन से बुरी तरह रौंदकर पहली बार इस खिताब पर कब्जा कर लिया। विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार आईसीसी का टूर्नामेंट खेल रही टीम इंडिया का फाइनल से पहले तक का सफर तो बेहद शानदार रहा, लेकिन खिताबी मुकाबले में टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। इस तरह साल 2013 का चैंपियन भारत अपना खिताब बरकारार नहीं रख पाया। पाकिस्तान की ओर से रखे गए 339 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 30.3 ओवर में 158 रन ही ढेर हो गई।
यह भी पढ़ें-
चैम्पियंस ट्रॉफी हारने के बाद कोहली ने कहा कुछ ऐसा जिससे पूरा पाकिस्तान हुआ गदगद! दुनिया कर रही है वाह-वाह!
हार्दिक पांड्या ने 76 रन (43 गेंद, 4 चौके, 6 छक्के) की तूफानी पारी खेली और सम्मान बचाने की भरपूर कोशिश की। उन्होंने 32 गेंदों में अपना पचासा पूरा किया। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 4 विकेट पर 338 रन बनाए थे, जिसमें फखर जमां के 114 रन (106 गेंद, 12 चौके, 3 छक्के) का अहम योगदान रहा। गेंदबाजी में पाक की ओर से मोहम्मद आमिर और हसन अली के खाते में तीन-तीन विकेट गए, तो शादाब खान ने दो विकेट और जुनैद खान ने एक विकेट लिया। हार्दिक पांड्या भारत की ओर से रनआउट होने वाले बल्लेबाज रहे।
यह भी पढ़ें-
narendra-modi-1604075/">जीत की खुमारी में मर्यादा भूला पाकिस्तानी एंकर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दे डाली डूब मरने की नसीहत!
इसी बीच जब भारतीय टीम मैच ख़त्म कर अपने ड्रेसिंग रूम में जा रहे थे तब कुछ पाकिस्तानी फैंस ने भारतीय खिलाडियों के साथ जो बर्ताव किया वो बर्दास्त के बाहर था। crictracker नाम की एक स्पोर्ट्स साइट ने इस बर्ताव का वीडियो शेयर किया है। वीडियो में आप साफ़ सुन सकते हैं कि कुछ पाकिस्तानी फैंस भारतीय कप्तान कोहली पर तंज करते हुए कह रहे हैं कि" कोहली निकल गई अकड़, पता चल गया बाप कौन है.।'' यह शब्द उसी वक्त बोले गए जब टीम के सभी खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम की ओर जा रहे थे।

इसी बीच जब यह शब्द भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सुने तो वो खुद पर कंट्रोल नहीं कर सके और उस पाकिस्तानी फैन के पास गुस्से में जा पहुंचे लेकिन तभी वहां धोनी आ पहुंचे और शमी को अपने साथ ले गए. वरना उस पाकिस्तानी को शमी के गुस्से का शिकार होने से कोई नहीं बचा सकता था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned