चैंपियंस ट्रॉफी: बल्लेबाजी में बिखरी टीम इंडिया, हुई 158 पर ढेर

Cricket
चैंपियंस ट्रॉफी: बल्लेबाजी में बिखरी टीम इंडिया, हुई 158 पर ढेर

पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 4 विकेट पर 338 रन बनाकर भारत को एक चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया। जवाब में लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 30.3 ओवर में 158 रन ही ढेर हो गई। पांड्या ने 76 रन बनाए।

ओवल। आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी, 2017 के फाइनल में टीम इंडिया को पाकिस्तान ने उम्मीद के उलट 180 रन से बुरी तरह रौंदकर पहली बार इस खिताब पर कब्जा कर लिया। विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार आईसीसी का टूर्नामेंट खेल रही टीम इंडिया का फाइनल से पहले तक का सफर तो बेहद शानदार रहा, लेकिन खिताबी मुकाबले में टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। इस तरह साल 2013 का चैंपियन भारत अपना खिताब बरकारार नहीं रख पाया। पाकिस्तान की ओर से रखे गए 339 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 30.3 ओवर में 158 रन ही ढेर हो गई। हार्दिक पांड्या ने 76 रन (43 गेंद, 4 चौके, 6 छक्के) की तूफानी पारी खेली और सम्मान बचाने की भरपूर कोशिश की। उन्होंने 32 गेंदों में अपना पचासा पूरा किया। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 4 विकेट पर 338 रन बनाए थे, जिसमें फखर जमां के 114 रन (106 गेंद, 12 चौके, 3 छक्के) का अहम योगदान रहा। गेंदबाजी में पाक की ओर से मोहम्मद आमिर और हसन अली के खाते में तीन-तीन विकेट गए, तो शादाब खान ने दो विकेट और जुनैद खान ने एक विकेट लिया। हार्दिक पांड्या भारत की ओर से रनआउट होने वाले बल्लेबाज रहे।

ऐसे बिखरी टीम इंडिया
इंडिया ने पहला विकेट शून्य पर ही खो दिया। रोहित शर्मा पारी की तीसरी ही गेंद पर चलते बने। फिर विराट कोहली भी पांच रन पर लौट गए। कोहली को जीवनदान भी मिला, लेकिन वह फायदा नहीं उठा पाए। टीम इंडिया ने छह रन पर ही दो विकेट खो दिए। फिर 33 रन पर तीसरा विकेट (शिखर धवन- 21 रन) भी गिर गया।  युवराज सिंह ने 22 रन बनाए। एमएस धोनी चार रन ही बना सके। हार्दिक पांड्या ने रवींद्र जडेजा के सात आठवें विकेट के लिए 80 रन जोड़े, जो पर्याप्त नहीं रहा। जडेजा ने उनको रनआउट करा दिया। इस प्रकार एक के बाद एक भारतीय बल्लेबाज लौटते गए और टीम इंडिया को दूसरी बार यह ट्रॉफी जीतने का सपना टूट गया।

पाकिस्तान को मिला किस्मत का साथ 
पाकिस्तान को शुरुआत से ही किस्मत का साथ मिला।  फखर जमां ने 114 रन (106 गेंद, 12 चौके, 3 छक्के) बनाए। उन्होंने 92 गेंदों में करियर का पहला शतक जमाया। फखर को चौथे ओवर की पहली गेंद पर जसप्रीत बुमराह ने आउट कर दिया था, लेकिन नोबॉल हो गई और उन्होंने इसका भरपूर फायदा उठाया। 

पाक बल्लेबाजों ने जमकर धोया
कई बार उनके बल्लेबाज रनआउट होने से बचे। इसके बाद तो उन्होंने शतक बनाकर ही दम लिया। फखर के बल्ले से 106 गेंदों में 114 रन निकले. अजहर अली 71 गेंदों में 59 रन (6 चौके, 1 छक्का) बनाकर रनआउट हुए। उन्होंने फखर के साथ पहले विकेट के लिए 128 रन जोड़े, वहीं फखर ने दूसरे विकेट के लिए बाबर आजम के साथ 72 रनों की साझेदारी की। बाबर आजम ने 46 रन (52 गेंद) बनाए. मोहम्मद हफीज (57 रन, 37 गेंद) और इमाद वसीम (25) नाबाद रहे। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 71 रनों की नाबाद साझेदारी की

पटरी पर लौटी पाकिस्तानी टीम
काफी दिनों से अच्छे खेल का इंतजार कर रही पाकिस्तान की टीम भी पटरी पर लौट आई। चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के अजहर अली, फखर जमान, मोहम्मद हफीज और बाबर आजम ने अच्छा प्रदर्शन किया। टीम के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों पाक टीम को एक मजबूत आधार दिया।

7 आईसीसी फाइनल खेलने वाले पहले खिलाड़ी बने युवराज 
Image result for yuvraj singh
भारत के धुरधंर आलराउंडर युवराज सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) टूर्नामेंटों में सात फाइनल खेलने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। युवराज इससे पहले तक आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग और श्रीलंकाई जोड़ी कुमार संगकारा तथा माहेला जयवर्धने की बराबरी पर थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned