IPL 9 का इससे बेहतर आगाज नहीं हो सकता था- धोनी

Amanpreet Kaur

Publish: Apr, 10 2016 02:35:00 (IST)

Cricket
IPL 9 का इससे बेहतर आगाज नहीं हो सकता था- धोनी

आईपीएल के नौंवे सीजन के पहले ही मैच में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने मुंबई इंडियंस को 9 विकेट से हराया

मुंबई। आईपीएल के नौवें सत्र के उद्घाटन मैच में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस को हराकर विजयी आगाज करने वाले नई टीम पुणे सुपरजायंट्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा कि टूर्नामेंट में इससे शानदार आगाज नहीं हो सकता था। मैच के बाद उत्साहित कप्तान धोनी ने कहा कि मेरे ख्याल से टूर्नामेंट में इससे बेहतर शुरुआत नहीं हो सकती थी। जीत का काफी श्रेय गेंदबाजों को जाता है, विशेष तौर पर रजत ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने बिलकुल सही जगहों पर गेंदबाजी की।

आठ सत्रों तक चेन्नई सुपरकिंग्स की कमान संभालने वाले धोनी ने पुणे की नई टीम के साथ भी अपनी नेतृत्वक्षमता दर्शाई। लाजवाब गेंदबाजी की बदौलत मुंबई को उसके घर में ही 121 रनों पर रोकने के बाद पुणे ने नौ विकेट के बड़े अंतर से मैच जीत लिया। धोनी की कप्तानी शानदार रही, उन्होंने गेंदबाजों का अच्छे से उपयोग किया और बल्लेबाजों का सही चुनाव किया। राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के कप्तान धोनी ने मैच जिताऊ पारी खेलने वाले अजिंक्या रहाणे की भी जमकर तारीफ की।

उन्होंने कहा कि जब स्कोरबोर्ड पर ज्यादा रन नहीं टंगे हो तो बल्लेबाजों के लिए काम आसान हो जाता है। हमेशा महसूस होता है कि रहाणे बेहतरीन खिलाड़ी है जब गेंद विकेट के ऑफ साइड पर आती है। वह पारंपरिक बल्लेबाज हैं और जिस तरह उन्होंने मैच खत्म किया वह शानदार रहा। इससे हमे एक-दूसरे से बात करने का कुछ मौका मिल गया। यह टीम काफी प्यारी और मस्तमौला है। सपोर्ट स्टाफ भी काफी प्रयास करता है।

धोनी ने विरोधी टीम की भी तारीफ करते हुए कहा कि विरोधी टीम ने भी अंत में कड़ी मेहनत की वो भी उस विकेट पर जहां तेज गेंदबाजों के लिए सहायता मौजूद थी। मुंबई के गेंदबाजों पर काफी दबाव था, फिर भी उन्होंने शानदार काम किया। इस जीत के बावजूद धोनी ने अपनी टीम की कमी को का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें अंतिम ओवरों में अपने प्रदर्शन को सुधारना होगा। हमने आखिरी तीन ओवरों में 41 रन खर्च किए जो सही नहीं है। हम आगे के मैचों में इस बात का ध्यान रखेंगे।

वहीं मैन आफ द मैच बने अजिंक्या रहाणे ने कहा कि मेरे ख्याल से गेंद को समय लेकर खेलना जरुरी था, मैंने पहले विकेट पर टिके रहने और फिर बाद में रन बनाने का निर्णय लिया था जो कि कारगर साबित हुआ। पहले छह ओवरों में गेंद कुछ ज्यादा ही घूम रही थी। हमारी टीम में विश्वस्तरीय खिलाड़ी हैं और सभी मैच विजेता हैं। हमें काफी कुछ सीखने को मिल रहा है। रहाणे ने 47 गेंदों में 66 रनों की शानदा मैच जिताऊ पारी खेली।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned