चेन्नई में 45 करोड़ रुपए के पुराने 500 और 1000 के नोट जब्त 

Iftekhar Ahmed

Publish: May, 18 2017 09:42:00 (IST)

Crime
चेन्नई में 45 करोड़ रुपए के पुराने 500 और 1000 के नोट जब्त 

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में पुलिस ने गुरुवार को एक व्यक्ति के घर से 45 करोड़ रुपए के पुराने नोट जब्त किए। 

चेन्नई. 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट को अवैध ठहराने के साथ ही ऐसे नोटों को रखना गैरकानूनी घोषित होने के बाद भी पुराने नोट मिलने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रही है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में पुलिस ने गुरुवार को एक व्यक्ति के घर से 45 करोड़ रुपए के पुराने नोट जब्त किए। केन्द्र सरकार ने लगभग छह महीने पहले 500 और एक हजार रुपए के पुराने नोट के चलन को बंद करने की घोषणा की थी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि एक सूचना के आधार पर पुलिस की विशेष टीम ने शहर के कोडमबाक्कम निवासी धंदापणि के घर पर छापा मारा और एक बैग से 500 और 1000 के पुराने नोट जब्त किए। 

पुलिस ने केस दर्ज कर रुपए किए जब्त
उन्होंने बताया धंदापानी की अपनी एक फर्म है, जिसमें पुलिस की वर्दी बनायी जाती है। उसने बताया कि यह धन उसे एक व्यवसायी से मिला। पुलिस ने जब्त की गई राशि के बारे में आयकर विभाग को सूचना दे दी है और आयकर अधिकारी इन पुराने नोटों के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए संबंधित व्यक्ति से पूछताछ करेंगे। कोडमबाक्कम पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और धंदापणि को हिरासत में ले लिया है।

इधर, पुराने नोट के इस्तेमाल बताने के लिए प्रतियोगिता
देश विदेश में अपनी डिजायनिंग कौशल प्रशिक्षण के लिए मशहूर यहां स्थित राष्ट्रीय डिजायन संस्थान (एनआईडी) में गत नवंबर में नोटंबंदी के बाद से बेकार हो गये 500 और 1000 रूपये के पुराने नोटों के कागज के जरिये नयी समाजोपयोगी वस्तुओं की डिजायन तैयार करने की वेबसाइट आधारित एक प्रतियोगिता का मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार को उद्घाटन किया। रूपाणी ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया का जो स्वप्न देखा है, उसे साकार बनाने में यह प्रतियोगिता भी सहयोगी होगी। एनआईडी की नवाचार यानी इनोवेशन वाली इस पहल को स्वागत योग्य बताते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात नए विचारों और नई पहल में सदैव आगे रहा है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि देश और गुजरात के युवाओं और डिजाइन क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को इससे एक बड़ा अवसर उपलब्ध होगा। इससे नई पीढ़ी को प्रधानमंत्री का नोटबंदी का निर्णय हमेशा याद भी रहेगा। उन्होंने कहा कि एनआईडी को गुजरात सरकार का सहयोग हमेशा मिलता रहेगा। कार्यक्रम में एनआईडी के निदेशक प्रद्युमन व्यास ने संस्थान के विभिन्न कार्यकलापों की जानकारी दी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय निदेशक जयंत दास ने नोटों के संदर्भ में तकनीकी जानकारी दी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned