ईडी ने दो व्यापारियों की 1.12 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

Crime
ईडी ने दो व्यापारियों की 1.12 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को दिल्ली के दो व्यवसायी भाइयों की 1.12 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क कर ली। दोनों व्यापारियों पर फर्जी कंपनियों के जरिए 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का बेनामी लेनदेन करने का आरोप है।

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को दिल्ली के दो व्यवसायी भाइयों की 1.12 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क कर ली। दोनों व्यापारियों पर फर्जी कंपनियों के जरिए 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का बेनामी लेनदेन करने का आरोप है। ईडी अधिकारी ने कहा कि हमने सुरेंद्र कुमार जैन और उनके भाई वीरेंद्र जैन की स्वामित्व वाली दक्षिणी दिल्ली के भट्टी गांव की कृषि भूमि को अस्थायी रूप से कुर्क किया है। इन्हें जैन भाइयों के नाम से भी बुलाया जाता है।

अब तक 65.82 करोड़ रुपये की संपत्तियां कुर्क कर चुकी है-ED
अधिकारी ने कहा कि एजेंसी ने मंगलवार को जैन भाइयों के खिलाफ पटियाला हाउस अदालत में एक अभियोजन शिकायत दायर की थी। ईडी ने अप्रैल में डिवाइन इंफ्राकान प्राइवेट लिमिटेड की दिल्ली के द्वारका में 64.70 करोड़ रुपये की एक होटल संपत्ति को कुर्क किया था। ईडी ने अभी तक इस मामले में कुल 65.82 करोड़ रुपये की संपत्तियां कुर्क कर चुकी है।

फर्जी कंपनियों के जरिए लेन-देन का आरोप
जैन भाइयों ने जगत प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के जरिए अपने बिना हिसाब के 64.70 करोड़ रुपये को कई फर्जी कंपनियों के जरिए शेयर प्रमाणीकरण द्वारा वैध लेनदेने में परिवर्तित किया था। अधिकारी ने कहा कि इसमें से 62.20 करोड़ का बिना हिसाब के धन का इनकी नियंत्रण वाली 26 फर्जी कंपनियों के जरिए शोधन किया गया।

13 अप्रैल को जैन भाइयों पर राजधानी में की गई थी छापेमारी 
ईडी ने 13 अप्रैल को जैन भाइयों के राजधानी में बेनामी लेनदेन को लेकर छापेमारी की थी। इन्हें 20 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। सीरियस फ्राड इन्वेस्टिगेटिंग आफिस (एसएफआईओ) द्वारा दिल्ली की तीस हजारी अदालत में इन भाइयों के खिलाफ एक आपराधिक शिकायत दायर की गई थी। इसके बाद एजेंसी ने 11 फरवरी को जगत प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड और दूसरों के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी एवं जालसाजी व कंपनी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned