शिमला दुष्कर्म केसः पिता ने बताया, मैंने उसे जानवरों के बारे में चेताया था, लेकिन इंसान जानवर से बदतर निकला

shachindra shrivastava

Publish: Jul, 18 2017 10:38:00 (IST)

Crime
शिमला दुष्कर्म केसः पिता ने बताया, मैंने उसे जानवरों के बारे में चेताया था, लेकिन इंसान जानवर से बदतर निकला

मृतक लड़की के 60 वर्षीय पिता घटनास्थल से 100 मीटर की दूरी पर बहुत कठिनाई से खड़े हैं। हलैला गांव के इसी घटनास्थल से उनकी 16 वर्षीय बेटी का शव बरामद किया गया है। रविवार को उनके परिवार ने यहीं पर एक प्रकार की पूजा गायत्री पथ का आयोजन किया था।

शिमला। मृतक लड़की के 60 वर्षीय पिता घटनास्थल से 100 मीटर की दूरी पर बहुत कठिनाई से खड़े हैं। हलैला गांव के इसी घटनास्थल से उनकी 16 वर्षीय बेटी का शव बरामद किया गया है। रविवार को उनके परिवार ने यहीं पर एक प्रकार की पूजा गायत्री पथ का आयोजन किया था। पूजा में आए सैकड़ों लोगों के प्रति उन्होंने हाथ जोड़कर कृतज्ञता जताई थी। स्कूल से घर जाने के रास्ते में उनकी बेटी गायब हो गई थी। उसके दो दिन बाद महसू के हलैला जंगल के सेव के लिए प्रसिद्ध कोटखई क्षेत्र में उनकी बेटी का शव मिला। यह क्षेत्र शिमला से 56 किलोमीटर दूर है। 


दो गिरफ्तार
बिलखते हुए लड़की के पिता ने कहा, मैंने उसे हमेशा जंगली जानवरों के बारे चेताया कि बचकर आना-जाना खासकर भालू से, तो लड़की अपने पिता से कहती थी कि चिंता मत करो पापा... कोई मुझे हानि नहीं पहुंचाएगा। मैंने उसे ऐसे लोगों के बारे में भी चेतावनी दी थी जो जानवरों से भी बदतर होते हैं। पुलिस ने मामले में अभी तक आशीष चौहान (29), राजेंदर सिंह उर्फ राजू (32) को गिरफ्तार किया है।   
  

पीएम रिपोर्ट में दुष्कर्म और गला दबाकर मौत की पुष्टि
पोस्टमार्टम (पीएम) रिपोर्ट में लड़की के साथ दुष्कर्म की और उसके बाद गला दबाने से मौत होने की पुष्टि हुई है। इसी रिपोर्ट में उल्लेख है कि  लड़की के पूरे शरीर और चेहरे पर गहरे जख्म हैं। नाबालिग बच्ची के साथ इस तरह की दरिंदगी के बाद हिमाचल की राजधानी शिमला सहित पूरे प्रदेश में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हुए। इन प्रदर्शनों के दबाव के बाद राज्य सरकार ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी।


उस दिन स्कूल से अकेले चली थी  
लड़की और उसका छोटा भाई महसू के गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ते हैं जो उनके घर से 5 किलोमीटर दूर है। कीचड़ भरे रास्तों में एक घंटे पैदल चलकर वे दोनों स्कूल पहुंचते थे। घटना वाले दिन लड़की का भाई स्कूल में खेल खेलने के लिए रुक गया था। लड़की के पिता ने कहा, अन्य स्कूली बच्चों की तरह उनकी बेटी प्रायः बेटे के साथ स्कूल से आती थी, लेकिन उस दिन उनकी बेटी ने किसी खेल में भाग नहीं लिया था, इसलिए वह घर के लिए अकेले ही स्कूल से चल पड़ी।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned