मौत के तीन माह बाद सम्मान में चयन

Gulshan Patel

Publish: Jun, 19 2017 08:17:00 (IST)

Damoh, Madhya Pradesh, India
मौत के तीन माह बाद सम्मान में चयन

श्रेष्ठ कार्य पर सम्मानित होने का चयन मौत के तीन माह बाद हुआपिता की मृत्यु पर पुत्र ने प्राप्त किया मनरेगा सम्मान

दमोह. मनरेगा के क्षेत्र में बेहतर कार्यों के लिए सोमवार को दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में दमोह को भी गौरान्वित होने का अवसर प्राप्त हुआ। इस मौके पर केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मध्य प्रदेश के तीन जिलों से  बेहतर कार्य करने वालों को सम्मानित करते हुए अवार्ड प्रदान किए। मनरेगा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वालों के लिए दिए गए 2015-16 के पुरस्कारों में दमोह जिले के बकायन में पदस्थ रहे पोस्टमास्टर जगदीश प्रसाद दुबे का नाम भी चयनित किया गया। उनके द्वारा हितग्राहियों को समय पर भुगतान करने की एवज में यह पुरस्कार देने के लिए चयन किया गया।

 दुबे ने अपने डाकघर से मनरेगा के सभी हितग्राहियों को समय सीमा के भीतर भुगतान प्रदान किया था। जबकि आम तौर पर पोस्ट आफिसों से हितग्राहियों को समय पर भुगतान न मिलने की शिकायत प्राप्त होती हंै। लेकिन इस सम्मान के लिए चयनित होने के तीन माह पहले ही जगदीश दुबे का निधन हो गया था। लिहाजा यह सम्मान प्राप्त करने के लिए जगदीश दुबे के पुत्र शशांक दुबे को यह सम्मान केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सोमवार को दिल्ली में प्रदान किया गया। पुरस्कार मिलने की जानकारी लगने पर दमोह में दुबे के परिचित मित्रों शुभ चिंतकों मैं हर्ष व्याप्त है। इस सम्मान से मनरेगा के क्षेत्र में पूरे प्रदेश में दमोह जिले का नाम गौरवांवित हो गया।
फोटो- 510- स्व. जगदीश दुबे

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned