30 हजार क्विंटल प्याज की सड़ांध ने रोक दी मंडी में खरीदी

Damoh, Madhya Pradesh, India
 30 हजार क्विंटल प्याज की सड़ांध ने रोक दी मंडी में खरीदी

कई दिनों से अनाज की नीलामी करने आए किसानों का टूटा सब्र बांध उतर आए सड़क पर लगा दिया जाम

दमोह. मप्र की दमोह कृषि उपज मंडी के टीन शेडो में मालगाड़ी से आई तीन रैक प्याज रखी गई थी, पिछले दिनों की लगातार बारिश ने इस प्याज पर पानी फेर दिया था, जिससे 30 हजार क्विंटल प्याज सड़ गई थी। जिसकी उठ रही दुर्गंध से व्यापारी व हम्मालों ने खरीदी करने से इंकार कर दिया था, हालांकि प्याज उठाने का काम शुरू हुआ था, लेकिन सोमवार को भी दुर्गंध फैली हुई थी। इधर अपना माल लेकर पहुंचे किसान खरीदी शुरू करने पर जोर दे रहे थे, जब बात नहीं बनी तो सोमवार को सागर-दमोह सड़क हाइवे जाम कर नारेबाजी शुरू कर दी।

किसानों द्वारा सड़क पर उतर आने की जानकारी लगते ही पुलिस प्रशासन सहित जिला प्रशासन से एसडीएम एनएल सामरथ पहुंचे। उन्होंने मंडी प्रशासन, व्यापारियों से बात की तब जाकर शाम 4 बजे किसानों द्वारा लाए गए अनाज की खरीदी शुरू हुई। नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा मंडी क्षेत्र से प्याज हटाने का काम चल रहा है, लेकिन करीब 30 हजार टन प्याज भीग कर सड़ चुकी है, जो दमोह में दुर्गंध का कारण बन रही है।


कृषि उपजमंडी में अनाज खरीदी की डाक में भाग लेने वाले अनाज व्यापारी संगठन के वरिष्ठ सदस्य मयंक भारिल्य ने बताया कि संगठन की ओर से दो पत्र दिए जा चुके थे, उसके बाद भी जब प्याज को टीनशेड से नहीं हटवाया गया तो फिर व्यापारियों को हड़ताल करने मजबूर होना पड़ा। सोमवार को भी प्याज पूरी तरह से नहीं हटाई गई थी, जिससे व्यापारी व हम्मालों ने हड़ताल यथावत रखी थी। हम्माल समिति के अध्यक्ष रामेश्वर अहिरवार का कहना है कि प्याज की बदबू इतनी अधिक है कि कोई भी हम्माल मुंह में कपड़ा बांधकर भी काम नहीं कर पा रहा है। हम्माल राजेंद्र अहिरवार ने बताया कि उनके साथी कार्य करने के दौरान प्याज की बदबू से बीमार हो चुके हैं। जिससे कोई भी हम्माल तब तक मंडी में काम नहीं करेगा जब तक प्याज को पूरी तरह से उठवाया नहीं जाएगा।   कृषि उपजमंडी सचिव केके रैकवार का कहना है कि उन्होंने कलेक्टर को जानकारी दे दी थी। जिन्होंने नॉन प्रभारी को प्याज उठवाकर फिकवाने आदेशित कर दिया है। प्याज फिकने भी लगी है। उन्हें भरोसा है कि सोमवार तक प्याज फिक जाएगी।  नागरिक आपूर्ति निगम महाप्रबंधक पदमचंद जैन का कहना है कि जो अच्छी प्याज बची है उसे छांटा जा रहा है, जिससे थोड़ा टाइम लग रहा है।  इधर किसानों का कहना था कि वे अपनी उपज लेकर पहुंचे हैं यहां उन्हें कई तरह की परेशानी है जिससे जल्द से जल्द नीलामी की जाए। दमोह एसडीएम एनएल सामरथ ने व्यापारियों, हम्मालों को समझाइश दी तब जाकर मंडी में नीलामी का कार्य शुरू हुआ है। एसडीएम ने नान को तत्काल प्याज उठाने के निर्देश भी दिए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned