नोटबंदी के बाद कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने में जुटे अधिकारी

Ajay Shrivastava

Publish: Nov, 29 2016 11:31:00 (IST)

Jagdalpur
नोटबंदी के बाद कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने में जुटे अधिकारी

वॉलेट अपनाएगा दंतेवाड़ा, कलक्टर सौरभ कुमार ने व्यापारियों की बैठक ली व प्वाइंट ऑफ  सेल्स को बढ़ावा देने अपील की

दंतेवाड़ा. आम जनता की सुविधा को देखते हुए कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने की दिशा में जिला प्रशासन कार्य कर रहा है।

इस संबंध में कलक्टर सौरभ कुमार ने व्यापारियों की बैठक ली व उनसे पीओएस प्वाइंट आफसेल्स को बढ़ावा देने की अपील की ताकि डेबिट कार्ड को स्वैप कर सीधे उपभोक्ता दुकानदार को पेमेंट कर सकें।

इससे दुकानदारों को भी बैंक तक कैश लेकर जाने की जरूरत नहीं होगी और उपभोक्ता को भी जेब में ज्यादा पैसे रखने का टेंशन नहीं होगा। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि पीओएस मशीन से लेखा जोखा रखना भी आसान हो जाएगा। व्यापारियों ने भी बताया कि विमुद्रीकरण के बाद जिन व्यापारियों के पास पीओएस की सुविधा थी वहां ग्राहकी अच्छी हुई।

पीओएस से खरीदी और कैशलेस ट्रांजेक्शन कराने वाले ऐप से आम जनता को परिचित कराने एक कार्यशाला भी जिला पंचायत में आयोजित की गई। कार्यशाला में विशेषज्ञों ने बताया कि भारत शासन कैशलेस इकानामी को बढ़ावा देना चाहती है। इसके प्रोत्साहन के लिए नीतियां क्रियान्वित कर रही है और भविष्य में भी ऐसी नीतियां आने की संभावना है।

मोबाइल से भुगतान की सेवा उपलब्ध कराने वाली पेटीएम  मोबीक्विक आक्सीजेन साइट्रस पेएम रूपी फ्रीचार्ज जैसी कई कंपनियां स्मार्ट फोन के प्लेस्टोर में उपलब्ध हैं। जिन्हें आसानी से डाउनलोड कर खरीदी का भुगतान किया जा सकता है। जिला पंचायत सीईओ गौरव सिंह ने कहा कि लोगों का बहुत सा समय भुगतान की लाइन में खर्च हो जाता है। मोबाइल ट्रांसफर ऐप से चाहे बिजली बिल पटाना हो या गैस सिलेंडर का बिल।

मोबाइल रिचार्ज कराना हो या डीटीएच का रिचार्ज। पास के दुकानदार को पैसे देना हो या पेट्रोल पंप में पेट्रोल डलाना हो। केवल ऐप के माध्यम से पेमेंट ट्रांसफर की कीजिए और निश्चिंत हो जाइए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned