लाइफ लाइन एक्सप्रेस शिविर में मोतियाबिंद के मरीज सबसे ज्यादा

Ajay Shrivastava

Publish: Oct, 18 2016 11:43:00 (IST)

Jagdalpur
लाइफ लाइन एक्सप्रेस शिविर में मोतियाबिंद के मरीज सबसे ज्यादा

दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा रेलवे स्टेशन में लाइफ लाइन एक्सप्रेस शिविर में मोतियाबिंद के उम्मीद से ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं।

दंतेवाड़ा. दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा रेलवे स्टेशन में लाइफ लाइन एक्सप्रेस शिविर में मोतियाबिंद के उम्मीद से ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं।

दंतेवाड़ा के साथ सुकमा और बीजापुर से अब तक एक हजार से अधिक मरीज आपरेशन के लिए पहुंचे लेकिन 900 का ही आपरेशन अब तक हो सका है। आपरेशन के लिए अभी भी मरीजों की कतार लगी है। जबकि 50 से अधिक मरीजों को आपरेशन के लिए उपयुक्त नहीं मिलने पर लौटा दिया गया।

भारत के कई राज्य और जिलों में सेवा दे चुकी इम्पेक्ट इंडिया की लाइफ लाइन एक्सप्रेस ट्रेन में पिछले 20 दिनों से दंतेवाड़ा में है। यहां प्रतिनिधि मरीजों का मोतियाबिंद आपरेशन के साथ कटे-फटे होंठ और टेढ़ेमेढ़े हाथ-पैर का आपरेशन किया जा रहा है।

शिविर में शामिल अधिकारियों के अनुसार मरीजों की संख्या लगातार बढऩे से दंतेवाड़ा, सुकमा व बीजापुर के कलक्टर की बैठक डॉक्टरों के साथ हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि मोतियाबिंद का आपरेशन शिविर के अंतिम दिन तक किया जाएगा। वैसे भी कटे-फटेे होंठ और टेढ़ेमेढ़ेे हाथ-पैर वाले मरीजों की संख्या कम है।

इसके अलावा पहुंच रहे अन्य मरीजों का पंजीयन किया जा रहा है। जबकि कुछ मरीजों का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से उन्हें गांव लौटा दिया गया है। शिविर में ग्राम बालूद के 10 वर्षीय हेमंत पिता बलराम को आंख में मोतियाबिंद पाया गया। उसका आपरेशन आज किया जाएगा।

कटे होंठ और टेढ़ेमेढ़े हाथ-पैर  वाले मरीज कम
लाइफ लाइन एक्सप्रेस में कटे होंठ और टेढ़ेमेढ़े हाथ-पैर का भी आपरेशन हो रहा है। तीनों जिले से अब तक पांच-पांच मरीज पहुंच चुके हंै। इनमें पांच मरीज सुकमा जिले के थे। इनका आपरेशन हो चुका है। अब टेढ़ेमेढ़े हाथ-पैर वाले मरीजों का आपरेशान होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned