अब देश में एसबीआई जैसे 3 से 4 बैंक ही होंगे!

Shankar Sharma

Publish: Jul, 16 2017 10:11:00 (IST)

New Delhi, Delhi, India
अब देश में एसबीआई जैसे 3 से 4 बैंक ही होंगे!

देश में बैंकिंग सेक्टर को मजबूती देने के लिए सरकार कई छोटे बैंकों का विलय बड़े बैंकों में करने की योजना बना रही है। सरकार चाहती है कि देश में केवल 3 से 4 बड़े सरकारी बैंक हो जो ग्लोबल लेबल पर काम करें

नई दिल्ली. देश में बैंकिंग सेक्टर को मजबूती देने के लिए सरकार कई छोटे बैंकों का विलय बड़े बैंकों में करने की योजना बना रही है। सरकार चाहती है कि देश में केवल 3 से 4 बड़े सरकारी बैंक हो जो ग्लोबल लेबल पर काम करें। इसी के तहत  सरकार पब्लिक सेक्टर बैंक की संख्या घटाकर 12 तक सीमित करने पर विचार कर रही है।

सरकार इससे जुड़े एक एजेंडे पर काम कर रही है। इसी योजना के तहत देश के 21पब्लिक सेक्टर बैंकों को मध्य अवधि में 10 से 12 में समेट दिया जाएगा। जबकि  थ्री-टियर स्ट्रक्चर के हिसाब से 3 से 4 ऐसे बैंक बनाए जाएंगे, जो भारतीय स्टेट बैंक जितने बड़े होंगे। इसके अलावा क्षेत्रीय बैंक जैसे  पंजाब और सिंध बैंक व आंध्रा बैंक स्वतंत्रत बैंक के तौर पर काम करते रहेंगे। इसके लिए अलावा कुछ मिड साइज लेंडर्स भी अपने ऑपरेशन चलाते रहेंगे।

नुकसान -  आरबीआई के पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन के मुताबिक बैंकों का विलय जबरन नहीं किया जाना चाहिए।  बल्कि  एनपीए की समस्या से निपटने के लिए बीच का रास्ता अपनाया जाना चाहिए। क्योकिं जरूरी नहीं कि इससे  समस्या खत्म हो सकेगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned