रैनसमवेयर के निशाने पर हो सकते हैं एटीएम,सॉफ्टवेयर रखें अपडेट

Shankar Sharma

Publish: May, 16 2017 12:22:00 (IST)

New Delhi, Delhi, India
रैनसमवेयर के निशाने पर हो सकते हैं एटीएम,सॉफ्टवेयर रखें अपडेट

दुनियाभर के 150 से ज्यादा देशों के करोड़ों कंप्यूटरों को निशाना बनाने वाले 'रैनसमवेयर' से मची खलबली के बीच रिजर्व बैंक ने सोमवार को बैंकों को अलर्ट जारी कर कहा कि वे एटीएम का सॉफ्टवेयर अपडेट रखें

नई दिल्ली. दुनियाभर के 150 से ज्यादा देशों के करोड़ों कंप्यूटरों को निशाना बनाने वाले 'रैनसमवेयर' से मची खलबली के बीच रिजर्व बैंक ने सोमवार को बैंकों को अलर्ट जारी कर कहा कि वे एटीएम का सॉफ्टवेयर अपडेट रखें, क्योंकि रैनसमवेयर ने दुनिया भर में पेमेंट सिस्टम पर हमला किया है।

वहीं, गृह मंत्रालय ने इस मामले में एडवाइजरी जारी की है। जिसके बाद कई एटीएम एहतियातन बंद कर दिए गए। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में ज्यादातर एटीएम माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के पुराने वर्जन पर चल

रहे हैं। ऐसे साइबर हमलों के लिए बेहद असुरक्षित हैं। देश में कुल 2.2 लाख एटीएम हैं और अधिकतर में पुराने वर्जन विंडोज एक्सपी का इस्तेमाल हो जा रहा है। माना जा रहा है कि देश में 70 फीसदी एटीएम में आउटडेटेड सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल होता है। इसलिए इन्हें निशाना बनाना ज्यादा आसान है।

शुक्रवार को भारत सहित लगभग 100 देशों में व्यापक स्तर साइबर हमले किए गए थेे, जिसमें दुनिया भर के 2 लाख से ज्यादा कंप्यूटर सिस्टम प्रभावित हुए थे। वहीं सूचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद का कहना है कि इस हमले से यहां कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है। कुछ मामले हैं, जिनसे निपटा जा रहा है। प्रसाद ने कहा कि जहां-जहां असर हुआ है, वहां-वहां मॉनिटरिंग चल रही है। उन्होंने कहा कि जून से साइबर कोऑर्डिनेशन सेंटर भी शुरू हो जाएगा।

ऐसे करता है एटीएम पर अटैक
रैनसमवेयर वायरस एटीएम को मेंटेनेंस मोड में ले जाता है और नोटों को बाहर करने पर मजबूर कर देता है। दुनिया की सबसे बड़ी एटीएम मेकर एनसीआर कॉर्प ने एक महीने पहले ही भारतीय बैंकों को इस खतरनाक वायरस के बारे में चेतावनी दी थी।

दफ्तरों के लिए गंभीर अलर्ट
सीईआरटी ने रेड कलर्ड यानी सबसे गंभीर अलर्ट जारी किया है। डिफेंस, बिजली, टेलीकॉम, एयरपोर्ट, बैंकिंग, स्टॉक मार्केट, स्कूल सहित बुनियादी सुविधाओं से जुड़े संस्थाओं के दफ्तरों पर अटैक का खतरा है।

एक भी कंप्यूटर पर वायरस अटैक हुआ तो पूरा लोकल एरिया नेटवर्क उसके कब्जे में आ जाएगा।

दफ्तर पहुंचकर पहला काम यह करें
चेक करें कि कम्प्यूटर में एंटी वायरस और विंडोज के पैच अपडेट हों। ई-मेल में संदिग्ध लिंक दिखे तो क्लिक न करें। न ही ऐसी अटैचमेंट खोलें या डाउनलोड करें। पैन ड्राइव स्कैन करके ही यूज करें।

वायरस अटैक हो गया है तो यह करें
अगर वायरस रन होना शुरू हो जाए तो सबसे पहले नेटवर्क केबल हटा दें, ताकि ऑफिस के दूसरे कंप्यूटर संक्रमित न हों। कंप्यूटर को तुरंत शट डाउन करें।

केरल और बंगाल में अटैक की खबरें
महाराष्ट्र में पुलिस विभाग के साथ-साथ दूसरे संस्थानों के कुछ कंप्यूटरों में भी रैनसमवेयर अटैक की सूचना है। केरल के वायनाड में पंचायत दफ्तर के 4 कंप्यूटरों और पश्चिम बंगाल के वेस्ट मिदनापुर में भी 4 जगहों पर स्टेट इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के कंप्यूटरों में इस वायरस का अटैक हुआ है।

सीईआरटी के निर्देशों का पालन करेंं बैंक
आरबीआई ने बैंकों से गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन सीईआरटी-इन (इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम) के इंस्ट्रक्शन फॉलो करने को कहा है। हालांकि माइक्रोसॉफ्ट ने एक्सपी सुरक्षा के पैच जारी किए हैं।
 स्टॉक मार्केट भी अलर्ट  सरकार ने आरबीआई, स्टॉक मार्केट और एनपीसीआई को अलर्ट किया है। इन्हें 'डूज एंड डोंट्सÓ जारी किए हैं ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned