हम इस विडंबनापूर्ण प्रमाणपत्र के लिए मंत्री के आभारी हैं: कन्हैया कुमार

New Delhi, Delhi, India
हम इस विडंबनापूर्ण प्रमाणपत्र के लिए मंत्री के आभारी हैं: कन्हैया कुमार

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की इंडिया रैंकिंग 2016 में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को मिला तीसरा स्थान

नई दिल्ली। जेएनयू को देश के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में शामिल किए जाने के बाद छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हम इस विडंबनापूर्ण प्रमाणपत्र के लिए मंत्री के आभारी हैं। यह उन सभी लोगों को संतुष्ट करेगा जो जेएनयू छात्रों द्वारा करदाताओं के पैसे बर्बाद किए जाने को लेकर चिंतित हैं।

उन्होंने कहा कि जब सामाजिक विज्ञान की बात आती है तो जेएनयू हमेशा से सर्वश्रेष्ठ रहा है। वहीं जेएनयू छात्र संघ के महासचिव रामा नागा ने कह कि रैंकिंग हैरान करने वाली नहीं, बल्कि विडंबनापूर्ण है। सरकार हमारी स्वायत्ता पर निशाना साधती है और बाद में हमें सर्वश्रेष्ठ स्वायत्त संस्थानों में शामिल होने का प्रमाणपत्र देती है।

गौरतलब है कि कर्नाटक के बेंगलूरु में स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 'इंडिया रैंकिंग 2016' में देश का नंबर वन विश्वविद्यालय घोषित किया। वहीं, रसायन तंत्रज्ञान संस्था, मुंबई को दूसरा स्थान मिला है। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को इस रैंकिंग में तीसरा स्थान दिया गया है। उनके बाद हैदराबाद विश्वविद्यालय और तेजपुर विश्वविद्यालय असम का नंबर है। भारतीय प्रबंधन संस्थान, बेंगलूरु को प्रबंधन संस्थान में शीर्ष रैंकिंग मिली है जबकि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास को इंजीनियरिंग संस्थानों में शीर्ष संस्थान का दर्जा दिया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned