आवेदनों को सीएम हेल्पलाइन पोर्टल से जोड़ा

amit mandloi

Publish: Jun, 21 2017 01:17:00 (IST)

Indore
आवेदनों को सीएम हेल्पलाइन पोर्टल से जोड़ा

आवेदन की जानकारी पोर्टल या टोल फ्री नंबर से ले सकेंगे आवेदनकर्ता

देवास. जनता की शिकायतों के निराकरण में गुणवत्ता लाने और नागरिकों की संतुष्टि के लिए शासन ने सीएम हेल्पलाइन को जनसुनवाई से जोड़कर एकीकृत कर दिया है। मंगलवार को जनसुनवाई में प्राप्त आवेदनों को सीएम हेल्पलाइन पोर्टल पर फीड किया गया। आवेदक सीएम हेल्पलाइन से ऑनलाइन एवं कॉल सेंटर के टोल फ्री नम्बर 181 से अपने आवेदन के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। 
इलाज के लिए दें आर्थिक मदद
जनसुनवाई में मंगलवार को मल्हार स्मृति मंदिर में विभिन्न आवेदकों ने आवेदन पत्र प्रस्तुत किए। जनसुनवाई में आवेदक राकेश पिता बाबूलाल निवासी पीपलरावां ने बताया, उसे सांस लेने तकलीफ   हो रही थी, जिसका जिला चिकित्सालय में इलाज करवाया। जब बीमारी गंभीर पाई गई तो इंदौर स्थित एमवाय अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया। वहां से इलाज कराने के लिए दिल्ली रैफर किया गया है। वह गरीब आदमी है तथा मजदूरी करके उसे अपने परिवार का पालन कर रहा है। उसे आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। आवेदन पर कलेक्टर ने रेडक्रास सोसायटी से दो हजार रुपए स्वीकृत कराए।
खेत में आने के रास्ते को किया बंद
 आवेदक नाथूसिंह सेवाजी निवासी ग्राम डकाच्या तहसील सोनकच्छ ने बताया, उसके खेत में जाने वाले रास्ते को कुछ लोगों ने बंद कर दिया है। इससे उसे व अन्य किसानों को खेतों पर जाने में परेशानी हो रही है। उक्त रास्ते को खुलवाया जाए। आवेदन पर कलेक्टर ने तहसीलदार सोनकच्छ को जांचकर कार्रवाई के निर्देश दिए। जनसुनवाई में आवेदक मंजूबाई पति सौदानसिंह निवासी शांति नगर अमोना ने बताया कि वह गरीब परिवार से है। उसकी बालिका वहीं के इंग्लिश मीडियम स्कूल में कक्षा 2री से 5वीं तक पढ़ाई की है। उसकी बालिका द्वारा 5वीं उत्तीर्ण कर ली है। उसे अन्य स्कूल में प्रवेश के लिए मार्कशीट एवं टीसी की जरूरत है, लेकिन स्कूल प्रबंधन मार्कशीट एवं टीसी नहीं दे रहा है। उसे मार्कशीट एवं टीसी दिलाई जाए। आवेदन पर कलेक्टर ने शिक्षा विभाग को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए। आवेदक अश्विन तिवारी निवासी ढांचा भवन देवास ने बताया कि वह गरीब परिवार से है। उसके पिता का स्वर्गवास हो गया है। वह आगे पढऩा चाहता है। उसे पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति दी जाए। आवेदन पर कलेक्टर शिक्षा विभाग को जांचकर नियमानुसार कार्रवाई के निर्देश दिए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned