भाई मारने दौड़ा तो नाबालिग प्रेमी के साथ भागी

amit mandloi

Publish: Jun, 20 2017 12:43:00 (IST)

Dewas, Madhya Pradesh, India
भाई मारने दौड़ा तो नाबालिग प्रेमी के साथ भागी

- अब वनस्टॉप सेंटर देवास में, करना चाहती है आगे की पढ़ाई

देवास. चापड़ा के पास श्याम नगर में रहने वाली एक 16 साल की नाबालिग को गत 23 मई को उसका भाई जान से मारने के लिए दौड़ा तो उसने घर छोड़ दिया। घर छोड़कर वह अपने प्रेमी के पास गईऔर उससे कहा कि मुझे साथ लेकर चलो नहीं तो मैं जान दे दूंगी। प्रेमी जगदीश नाबालिग को अपने साथ ले गया और उसके साथ ज्यादती की। लड़की के पिता ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी, जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। उसे जेल भेज दिया गया है। बताया जाता है कि आरोपित के घर वालों व पीडि़ता के घर वालों के पारिवारिक संबंध थे। आरोपित ने दो दिनों तक पीडि़ता को श्याम नगर में ही रखा था। उसके बाद उसे हरदा ले गया, वहां पर कोई कामकाज नहीं मिला तो उसे लेकर कांटाफोड़ रिश्तेदार के यहां ले आया था। पुलिस ने नाबालिग को वहीं से बरामद किया था।
परिजन ने रखने से किया इनकार
नाबालिग को पुलिस उसे परिजन को सौंपने लगी तो माता-पिता ने रखने से इनकार कर दिया। पुलिस ने पीडि़ता को 25 मई को वन स्टॉप सेंटर देवास भेजा है, जहां पर लड़की अब आगे की पढ़ाई करना चाहती है। पीडि़ता ने इस वर्ष 8वीं कक्षा उत्तीर्ण की है और 9वीं में प्रवेश लेकर पढऩा चाहती है। सखी सेंटर से जल्द ही पीडि़ता को उज्जैन बालिका सुधार गृह भेजा जाएगा। वहां से उसकी आगे की पढ़ाई कराई जाएगी। इस मामले में चापड़ा चौकी प्रभारी लीला सोलंकी ने बताया, आरोपित के खिलाफ धारा 376 में प्रकरण दर्ज करने के बाद न्यायालय में पेश किया था, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
बैतूल की लड़की भी पहुंची वन स्टॉप सेंटर
तीन दिन पहले रात्रि गश्त में कोतवाली पुलिस ने महात्मा गांधी बस स्टैंड पर अकेले घूमते हुए शादीशुदा लड़की को देखा। पूछताछ की तो उसने बताया कि वह बैतूल से आई है और अपना घर भूल गई है। लड़की को देखने से लग रहा है कि वह नाबालिग है और उसकी कम उम्र में शादी कर दी है। देवास में लड़की उसका ससुराल केशर होटल के पीछे की कॉलोनी में बता रही है। फिलहाल पुलिस ने लड़की को वन स्टॉप सेंटर पहुंचाया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned