आज रोपेंगे आनंदम् रूपी पौधा

Kamal Singh

Publish: Jan, 14 2017 12:39:00 (IST)

Dewas, Madhya Pradesh, India
आज रोपेंगे आनंदम् रूपी पौधा

मकर संक्रांति... कई  वर्गों के लोग उत्सव में शामिल होंगे

देवास. दान देना तथा जरूतरमंदों की मदद करना भारतीय संस्कृति में पुण्य कर्म माना जाता है। दान देने से आनंद की अनुभूति होती है। समाज के इसी भाव को सशक्त करने के लिए 14 जनवरी मकर संक्रांति के पावन अवसर पर आनंदम् का शुभांरभ प्रात: 11 बजे से मंडूक पुष्कर तट पर किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के उद्बोधन का सीधा प्रसारण भी एलईडी के माध्यम से किया जाएगा। कलेक्टर आशुतोष अवस्थी ने इस आयोजन में सभी से  सहभागिता का आह्वान किया है।
सभी गांवों में बनेगा आज से आनंद उत्सव : जिला पंचायत के सीईओ प्रबल सिपाहा ने बताया है कि 14 जनवरी से 21 जनवरी के बीच आनंद उत्सव का आयोजन किया जाएगा। प्रत्येक तीन पंचायतों के बीच एक स्थान पर खेलकूद होंगे। जिले में 16 5 स्थानों पर पारंपरिक खेलों के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। प्रथम विजेता को मेडल के साथ प्रमाण पत्र भी मिलेगा। गांव में मुनादी कराकर इसकी सूचना दी गई है।
जैन समाज हर 14 तारीख को करेगा दान
बैठक में समाजसेविका चित्रा जैन एवं मंजू जैन ने 100 कंबल वितरण देने की बात कही थी।  बैठक उन्होंने बताया था कि जैन समाज की ओर से प्रतिमाह  की  14 तारीख को जैन मंदिर से कपड़े एवं अन्य सामग्रियां एकत्रित कर आनंदम स्थल पर पहुंचाई जाएगी। 16 तारीख को अग्रवाल समाज के श्याम गोयल एवं वीणा महाजन कपड़े एवं अन्य सामग्रियां एकत्रित कर आनंदम स्थल पर पहुंचाएंगे।
जिदंगी में होगा उत्साह का संचार
सीईओ सिपाहा ने बताया है कि आनंद उत्सव गांवों में रोजमर्रा की जिंदगी में एक उत्साह का संचार करेगा। सभी वर्ग समूहों के लिए अलग.अलग कार्यक्रम आयोजित करने की अपेक्षा की गई है। इस में बच्चोंए महिलाओं, युवाओं और 55 साल से ऊपर के वृद्धों के लिए भी आयोजन रखे जा रहे हैं। आयोजन का उद्देश्य बचपन की यादें लौटाने का एक उत्सव भी मनाया जाना है।
अपनी वस्तुएं छोड़ें, जरूरतमंद के काम आएंगी
कलेक्टर अवस्थी ने जनप्रतिनिधि, आमजन से अनुरोध किया है कि वे अपनी वस्तुएं जो उनके काम न आए यहां छोड़ जाएं, जिससे वह वस्तु किसी जरूरतमंद के काम का सकें। उन्होंने आग्रह किया है कि अपनी सामग्री, जिसमें कपड़े जो कि साफ. स्वच्छ एवं आयरन किए हुए, पेपर या थैली में पैक करे। यदि बच्चों के हैं तो उम्र भी उस थैली पर लिख दें। खिलौने, बैग, गरम कपड़े रजाई-कम्बल, बर्तन इलेक्ट्रॉनिक का सामान, जो खराब न हो। साथ ही अनाज एवं अन्य खाद्य सामग्री भी यहां पर रखकर जा सकता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned