HCL कंपनी कर रही है 5 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट पर काम

Shribabu Gupta

Publish: Nov, 29 2016 07:50:00 (IST)

Dhanbad, Jharkhand, India
HCL कंपनी कर रही है 5 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट पर काम

कंपनी अपने स्मेल्टर की उत्पादन क्षमता 68 हजार मीट्रिक टन से बढ़ाकर 1 लाख 75 हजार प्रति वर्ष करने जा रही है...

मऊभंडार। एचसीएल में 5 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है। इसके अंतर्गत कंपनी अपने स्मेल्टर की उत्पादन क्षमता 68 हजार मीट्रिक टन से बढ़ाकर 1 लाख 75 हजार प्रति वर्ष करने जा रही है। उक्त बातें हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड के चेयरमैन-कम-मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) केडी दीवान ने कही। कहा कि आने वाले दिनों में कंपनी का भविष्य सुनहरा है।

जानकारी के अनुसार एचसीएल की यूनिट इंडियन कॉपर कॉम्प्लेक्स (आइसीसी) में स्मेल्टर की उत्पादन क्षमता 7 हजार टन बढ़ाकर 18 हजार से 25 हजार किया जायेगा। इसी तरह, गुजरात कॉपर प्रोजेक्ट जिसकी क्षमता 50 हजार टन है, उसे बढ़ाकर 75 हजार टन प्रति वर्ष करने की है।

इसके अलावा मलाजखंड कॉपर प्रोजेक्ट के निकट छत्तीसगढ़ बॉर्डर एरिया में एचसीएल 2 हजार करोड़ की लागत से एक नया प्लांट बैठायेगी, जिसकी उत्पादन क्षमता एक लाख टन होगी। यह प्लांट पूरी तरह से अत्याधुनिक होगा जो संभवत: देश का पहला प्लांट होगा। कहा, स्मेल्टर के साथ ही कॉपर खदानों में भी उत्पादन क्षमता बढ़ाने और उसे विकसित करने की योजना पर भी तेजी से काम हो रहा है।

एचसीएल फिलहाल 3.4 मिलियन टन कॉपर अयस्क का उत्पादन प्रति वर्ष करती है, जिसे बढ़ाकर 12.4 मिलियन टन करने की योजना है। एचसीएल फिलहाल चार खदानों पर ही काम कर रही है। आने वाले दिनों में केंदाडीह, राखा कॉपर, सुरदा फेज-टू आदि को मिलाकर आठ खदानों से अयस्क का उत्पादन हो सकेगा जिससे एचसीएल में प्रर्याप्त मात्रा में उत्पादन के लिए अयस्क उपलब्ध रहेगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned