यात्रा का मुख्य उद्देश्य नर्मदा को साफ रखना

Shruti Agrawal

Publish: Feb, 16 2017 11:57:00 (IST)

Dhar, Madhya Pradesh, India
यात्रा का मुख्य उद्देश्य नर्मदा को साफ रखना

 यात्रा के प्रभारी प्रदेश के वन मंत्री गौरी शंकर शेजवार धार पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया

धार . प्रदेश की जीवनरेखा नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से शुरू हुई नर्मदा सेवा यात्रा 21 फरवरी को जिले के कवड़ा गांव में प्रवेश करेगी, जिसका जिले में समापन 4 मार्च को धरमपुरी तहसील के बलवाड़ा गांव में होगा। नर्मदा किनारे पोलिथीन और थर्माकोल पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान जिले में की जा रही तैयारियों की समीक्षा करने यात्रा के प्रभारी प्रदेश के वन मंत्री गौरी शंकर शेजवार धार पहुंचे थे, जिनके साथ जिले के प्रभारी मंत्री अंतर सिंह आर्य भी मौजूद रहे। बैठक में मंत्री शेजवार ने कहा कि पौराणिक कथा में उल्लेख है कि सभी नदियां समाप्त हो जाएगी, लेकिन नर्मदा जिवित रहेगी। आगे चलकर नर्मदा फिर सभी नदियों को जिवित करेगी, जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण उज्जैन का सिंहस्थ मेला है। नर्मदा का पानी क्षिप्रा में छोड़ा गया, जिसमें लाखों धर्मावलंबियों ने डूबकी लगाई। यात्रा का मुख्य उद्देश्य यही है कि नर्मदा को साफ स्वच्छ रखा जाए और इसके आसपास प्राकृतिक स्वरूप कायम रहे। यात्रा के प्रचार-प्रसार के लिए डीजे, धार्मिक गीत, भाषण, अनाउन्समेंट आदि के प्रयोग के निर्देश भी दिए। इधर जिले के प्रभारी मंत्री आर्य ने कहा कि यह किसी धर्म से जुड़ी यात्रा नहीं बल्कि इसमें सभी धर्मों की सहभागिता होना चाहिए। बैठक में विधायक नीना वर्मा, रंजना बघेल, कालू सिंह ठाकुर, जिला भाजपा अध्यक्ष राज बर्फा, जिला पंचायत अध्यक्ष मालती पटेल, कलेक्टर श्रीमन शुक्ला, पुलिस अधीक्षक बीके सिंह उपस्थित रहे।
सिंहस्थ के चलित शौचालय
परिक्रमा पथ पर स्थाई शौचालय के साथ ही अस्थाई शौचालय की वयवस्था भी की जा रही है। कलेक्टर शुक्ला ने बताया कि उज्जैन सिंहस्थ में इस्तेमाल किए गए करीब 80 अस्थाई शौचालय बुलाए जा रहे हैं। यात्रा के दौरान प्रत्येक दिन प्रदेश के एक मंत्री को रहने के निर्देश दिए जा चुके हैं, वहीं 3 दिन तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं जिले में रहेंगे। 23 फरवरी को मुख्यमंत्री कोटेश्वर, 28 फरवरी को बाकानेर तथा 1 मार्च को धरमपुरी में रहेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned