लंबे समय तक तनाव से होने लगती हैं ये समस्याएं 

Vikas Gupta

Publish: Apr, 02 2017 11:15:00 (IST)

Diet Fitness
लंबे समय तक तनाव से होने लगती हैं ये समस्याएं 

तनाव के लंबे समय तक बने रहने से डिप्रेशन की शुरुआत होती है।

तनाव के लंबे समय तक बने रहने से डिप्रेशन की शुरुआत होती है। इसके कई कारणों में आनुवांशिकता, बायोकेमिकल, वातावरण और मनोवैज्ञानिक स्थितियां प्रमुख रूप से शामिल हैं। जानें कैसे अवसाद हावी होता है।

अधिक काम का प्रेशर
ऑफिस में काम का तनाव और प्रमोशन के लिए बेहतरीन परफॉर्मंेस देने व सहयोगी के सामने साफ छवि बनाने के चक्कर में जॉब को लेकर असुरक्षा की स्थिति बन जाती है। इस कारण कार्यक्षमता प्रभावित होने से निर्णय लेने की क्षमता घटती है।

रिश्तों में असंतुलन
प्रोफेशनल व पर्सनल लाइफ में बैलेंस न होने से पति-पत्नी एक-दूसरे के लिए समय नहीं निकाल पाते। बढ़ता तनाव डिप्रेशन का रूप लेकर रिश्तों में दरार की वजह बनता है।

परिवार का बच्चों के प्रति बुरा व्यवहार
माता-पिता अक्सर छोटी-छोटी बात पर बच्चों को बहुत सख्त तरीके से डांटते हैं। इससे उसमें खुद के प्रति नकारात्मक भावना पैदा हो जाती है। पढ़ाई व खुद से जुड़े निर्णय लेने के लिए बच्चे को यदि फैमिली सपोर्ट न मिले तो वह घुटने लगता है जो डिप्रेशन को जन्म देता है व आत्महत्या जैसे विचारों से घिरने लगता है।

बुजुर्गों के प्रति लापरवाही
विचारों में मतभद होने के कारण आजकल जिस तरह युवा घर के बुजुर्गों की देखरेख में कमी रखते हैं। यह बुजुर्गों में तनाव का स्तर बढ़ा देता है। परिवार टूटने व अकेलेपन का अहसास डिप्रेशन का रोगी बनाकर जीने की उम्मीद कम करता है।

अव्यवस्थित जीवनशैली
समय पर न सोने-उठने, संतुलित खानपान न लेने से बॉडी क्लॉक गड़बड़ा जाती है। ऐसे में निश्चित समय पर स्त्रावित होने वाले हार्मोन जब समय पर कार्य नहीं कर पाते तो शारीरिक और मानसिक दोनों रूपों में सेहत प्रभावित होती है।

डॉ. प्रशांत गोयल, सीनियर कंसल्टेंट, साइकिएट्रिस्ट, श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली
डॉ. कौस्तुभि शुक्ला, साइकोलॉजिस्ट, पीएसआरआई हॉस्पिटल, नई दिल्ली

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned