मोटापे के शिकार मरीजों को बाइपास सर्जरी के बाद संक्रमण का खतरा!

Anil Jangid

Publish: Jun, 20 2017 12:23:00 (IST)

Disease and Conditions
मोटापे के शिकार मरीजों को बाइपास सर्जरी के बाद संक्रमण का खतरा!

मोटापे के शिकार रोगियों को हृदय की बाइपास सर्जरी कराने के 30 दिन बाद तक रहता है संक्रमण का खतरा

टोरंटो। एक नए शोध में पता चला है कि मोटापे के शिकार रोगियों को हृदय की बाइपास सर्जरी कराने के 30 दिन बाद तक संक्रमण का खतरा रहता है। कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट के शोधकर्ता तसुकु टेरादा ने कहा कि 'सामान्य बीएमआई वाले मरीजों की तुलना में हमने पाया है कि बीएमआई के 30 से अधिक रोगियों के साथ बाईपास सर्जरी के बाद संक्रमण की संभावना 1.9 गुना बढ़ जाती है।'


56,722 रोगियों पर हुई जांच
रिसर्च टीम ने 56,722 रोगियों को जांच के दायरे में लिया और उनकी बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और विभिन्म परिणामों की कोरोनरी आर्टरी बाइपास ग्राफ्टिंग (सीएबीजी) और पक्र्यूटैनीयस कोरोनरी इंटरवेंशन (पीसीआई) रिपोर्ट तैयार की। पीसीआई को कोरोनरी एंजियोप्लास्टी भी कहा जाता है। यह रिपोर्ट कनाडा में हुए मोटापा शिखर सम्मेलन में भी प्रस्तुत की गई।


Read More: इन आदतों से होती है इम्युनिटी कमजोर


बढ़ जाती है चिकित्सा की लागत
अस्पतालों में सर्जरी के बाद संक्रमण वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है। इस कारण चिकित्सा लागत भी बढ़ जाती है। यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट की असिस्टेंट प्रोफेसर मैरी फरहान ने बताया कि आगे की जांच से शोधकर्ताओं को संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए, और यह सुनिश्चित करने के लिए कि रोगियों की उचित देखभाल हो रही है, इसके लिए उपकरण ईजाद करने में मदद मिलेगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned