भूटान की बर्फीली पहाडिय़ों पर दिखे 'येती' के पैरों के निशान!

Amanpreet Kaur

Publish: Feb, 03 2016 09:19:00 (IST)

Dunia Ajab Gajab
 भूटान की बर्फीली पहाडिय़ों पर दिखे 'येती' के पैरों के निशान!

पाहडियों पर मिले ये पैरों के निशान मानव के पैरों के निशान से बड़े हैं और किसी चार टांगों वाले जीव के नहीं हो सकते

नई दिल्ली। 'येती' के बारे में कई किस्से और कहानियां मशहूर हैं। कुछ लोग इसके होने पर यकीन करते हैं तो कुछ लोग नहीं। हाल ही एक पर्वतारोही ने भूटान में येती के पैरों के निशान देखने का दावा किया है। स्टीव बैरी नामक इस पर्वतारोही ने इसकी तस्वीर भी ली है।

बैरी का कहना है कि तस्वीरों में नजर आ रहे पैरों के निशान येती के हो सकते हैं। आपको बता दें कि येती के बारे में कहा जाता है कि वह हिमालय पर्वत की बर्फीली गुफाओं में निवास करता है। स्टीव का कहना है कि ये पैरों के निशान मानव के पैरों के निशान से बड़े हैं। ये निशान बर्फीले तेंदुए अैर किसी चार टांगों वाले जीव के भी नहीं हो सकते।

Yeti

स्टीव का कहना है कि बर्फ पर बने ये निशान बालू के भी नहीं हो सकते क्योंकि वो दो पैरों से चलता है और इतना भारी होता है कि एक के बाद एक पैर के निशान नहीं छोड़ सकता है। स्टीव का कहना है कि येती के पैरों के निशानों का यह रास्ता भूटान में सबसे ऊंचे पहाड़ गंगखार पुनसुम में देखा गया था।

66 वर्षीय बैरी दक्षिण ग्लूस्टरशायर में बैडमिंटन के पास रहते हैं। उनका दावा है कि उन्होंने 17800 फीट पर इस जगह खड़े होकर इन निशानों को अपनी आंखों से देखा है। बैरी का कहना है कि एक याक हर्डर ने उन्हें बताया कि उसने भी 11 साल पहले येती को देखा था। वह उससे 100 यार्ड की दूरी पर था और उसे देख रहा था। वह भूरे लंबे बालों से ढंका था और उसका चेहरा किसी डॉग की तरह ढंका हुआ था। उसकी लंबाई इंसानों की तरह थी। हालांकि बैरी, उनके गाइड और भूटान के शाही परिवार ने इस क्रिएचर में अपनी रुचि जाहिर की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned