कानून के रखवाले थानेदार के खिलाफ ही जारी हो गया गिरफ्तारी वांरट, पढि़ए पूरी खबर

Satya Narayan Shukla

Publish: Apr, 21 2017 11:49:00 (IST)

Durg, Chhattisgarh, India
कानून के रखवाले थानेदार के खिलाफ ही जारी हो गया गिरफ्तारी वांरट, पढि़ए पूरी खबर

गवाही के लिए हाजिर नहीं होने वाले मोहन नगर थाने के तत्कालीन टीआई कौशलकिशोर वासनिक के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। वे खुर्सीपार थाने में पदस्थ हैं।

दुर्ग. विवाहिता को आत्महत्या के लिए उकसाने के प्रकरण में गवाही के लिए हाजिर नहीं होने वाले मोहन नगर थाने के तत्कालीन टीआई कौशलकिशोर वासनिक के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। वासनिक फिलहाल खुर्सीपार थाने में पदस्थ हैं।

बिना हथकड़ी लगाए न्यायालय में उपस्थित कराने कहा

गुरुवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश दीपक गुप्ता ने वारंट को एसपी अमरेश मिश्रा के माध्यम से तामील कराने का निर्देश दिया है। इसमें टीआई को बिना हथकड़ी लगाए न्यायालय में उपस्थित कराने को कहा गया है।न्यायाधीश ने वारंट तामील होने के बाद भी सुनवाई के दौरान सुनवाई के दौरान टीआई की अनुपस्थिति को गंभीरता से लिया।

थाने और न्यायालय के बीच ज्यादा दूरी भी नहीं
न्यायाधीश ने कहा है विवेचना अधिकारी निरीक्षक कौशल किशोर वासनिक 19 अक्टूबर 2016 से लगातार अनुपस्थित हैं जबकि उनकी पदस्थापना अभी खुर्सीपार थाने में है। उनके वर्तमान थाने और न्यायालय के बीच ज्यादा दूरी भी नहीं है। टीआई की इस लापरवाही के कारण अदालत की कार्रवाई में विलंब हो रहा है। प्रकरण के विचारण में विवेचना अधिकारी की भूमिका असहयोगपूर्ण है।

10 गवाहों में दो हुए पक्षद्रोह
इस प्रकरण में मोहन नगर पुलिस ने कुल दस गवाह बनाए थे। अभियोजन ने केवल नौ गवाह कराए जिसमें से दो गवाह पक्षद्रोह हो गए। अब केवल विवेचना अधिकारी का कथन शेष है।

यह है मामला

प्रकरण के मुताबिक मोहन नगर पुलिस ने गया नगर निवासी मयूरी की आत्महत्या के मामले में शंकरनगर निवासी धर्मेन्द्र साहू के खिलाफ एफआईआर दर्ज है। पुलिस ने न्यायालय को जानकारी दी है कि धर्मेन्द्र ने मयूरी से प्रेम विवाह किया था। लेकिन बाद में वह पत्नी के चरित्र पर शंका करने लगा। इस वजह से शादी के एक साल बाद 14 जनवरी 2015 को मयूरी ने जहर खाकर जान दे दी। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned