यहां काम के बाद खाली नहीं बैठते मनरेगा मजदूर स्लेट पर लिखते हैं क, ख, ग

Satya Narayan Shukla

Publish: May, 18 2017 02:50:00 (IST)

Durg, Chhattisgarh, India
यहां काम के बाद खाली नहीं बैठते मनरेगा मजदूर स्लेट पर लिखते हैं क, ख, ग

मनरेगा के काम के बाद खाली समय में बेकार बैठने के बजाए श्रमिक अब पढ़ाई करेंगे। अंगूठा लगाने की मजबूरी से बचाने बोरई में यह अनूठा पहल शुरू किया गया है।

दुर्ग. मनरेगा के काम के बाद खाली समय में बेकार बैठने के बजाए श्रमिक अब पढ़ाई करेंगे। श्रमिकों को मस्टर रोल में अंगूठा लगाने की मजबूरी से बचाने बोरई में यह अनूठा पहल शुरू किया गया है। बोरई सरपंच रिवेन्द्र यादव ने मजदूरों को स्लेट व पेंसिल देकर इसकी शुरूआत कराई।

ग्राम पंचायत बोरई में मनरेगा के तहत भरदा सड़क निर्माण किया जा रहा है। इसमें 250 मजदूर काम कर रहे हैं। सरपंच रिवेन्द्र यादव ने बताया कि काम के लिए मजदूर सुबह से दोपहर तक कार्य स्थल में रहते है। काम खत्म हो जाने के बाद मस्टर रोल में नाम दर्ज कराने के लिए निर्धारित समय तक बैठना पड़ता है। इस समय का कोई भी उपयोग नहीं होता।

20 फीसदी लगा रहे अंगूठा
सरपंच ने बताया कि करीब 20 फीसदी मजदूर अब भी हस्ताक्षर की जगह अंगूठा लगाते हैं। ऐसे में काम के बहाने एकत्रित मजदूरों के हित में स्वास्थ्य, शिक्षा, सरकारी योजनाओं से संबंधित जानकारी दी जा सकती है। इसे ध्यान में रखकर मजदूरों को शिक्षित करने का निर्णय किया गया।

मजदूर ही बनेंगे शिक्षक
सरपंच रिवेन्द्र यादव ने बताया कि पढ़े लिखे मजदूर इस काम में शिक्षक की भूमिका निभाएंगे। इसके लिए मजदूरों की जिम्मेदारी तय कर दी गई है। इसके साथ ही श्रमिकों को कम से कम हस्ताक्षर करने तक साक्षर करने का संकल्प भी लिया गया है।




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned