युवती को जबरन बाइक पर बैठा रहा था, भीड़ ने की जमकर पिटाई

Satya Narayan Shukla

Publish: Oct, 19 2016 10:01:00 (IST)

Durg, Chhattisgarh, India
युवती को जबरन बाइक पर बैठा रहा था, भीड़ ने की जमकर पिटाई

युवती को बलपूर्वक अपनी बाइक में बैठाने का प्रयास करने वाले युवक की राहगीरों ने जमकर धुनाई कर पुलिस के हवाले किया।

दुर्ग. युवती को बलपूर्वक अपनी बाइक में बैठाने का प्रयास करने वाले युवक की राहगीरों ने जमकर धुनाई कर पुलिस के हवाले किया। घटना बुधवार को मोहन थाना से कुछ दूर स्टेशन रोड की है। पुलिस ने आरोपी पद्मनाभपुर निवासी सोनू उर्फ कुलेश्वर साहू के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर सीजीएम न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया।

युवती ने मदद के लिए आवाज लगाई

पुलिस ने बताया कि बाइक सवार आरोपी युवक सड़क किनारे युवती का हाथ पकड़कर खड़ा था। राहगीरों ने नजर अंदाज किया। थोड़ी ही देर बाद आरोपी ने बाइक चालू कर युवती को बैठाने का प्रयास किया। युवती ने मदद के लिए आवाज लगाई। इसे सुनकर रेलवे स्टेशन मार्ग पर भीड़ जमा हो गई। जैसे ही युवती ने कहा कि युवक उसके साथ जबरदस्ती कर रहा है,तो भीड़ आक्रोशित हो गई और युवक की जमकर पिटाई की। बाद में उसे मोहन नगर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी युवक को लेकर भीड़ थाना पहुंची थी। युवती से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने युवक के खिलाफ अपराध दर्ज किया तब जाकर लोग शांत हुए।

फोन में दी थी धमकी
पीडि़त युवती ने पुलिस को बताया कि वह कॉलेज में पढ़ती है। आरोपी ने उसे फोन पर धमकी दी थी कि अगर वह रेलवे स्टेशन के पास उससे मिलने नहीं आई तो उसे जान से मार देगा। भय के कारण वह युवक से मिलने रेलवे स्टेशन पहुंची थी। युवक ने पहले तो हाथ पकड़ा जब वह इसका विरोध करने लगी तो युवक बाइक चालू कर जबरदस्ती बैठाने का प्रयास किया।

जेल से छुटे आरोपी को कोर्ट में वकीलों ने पीटा
धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के मामले में जेल से कुछ दिन पहले रिहा हुए शंकर नगर निवासी वेद प्रकाश गुप्ता की अधिवक्ताओं ने जमकर पिटाई की।वेद प्रकाश बुधवार को अपने काम से न्यायालय पहुंचा था। इसी बीच उस पर अधिवक्ताओं की नजर पड़ गई। पहले तो आरोपी ने अधिवक्ताओं के आक्रोश से बचने का प्रयास किया पर वह सफल नहीं हो सका। इस घटना से पुलिस अनंजान है। जानकारी के मुताबिक वेद प्रकाश गुप्ता को सिटी कोतवाली पुलिस ने धार्मिक भावना को आहत पहुंचाने के मामले में न्यायालय में पेश कर जेल भेजा था। बाद में न्यायालय ने उसे दण्डित कर रिहाई का आदेश दिया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned