अब बिना कैश के किसान खरीदेंगे उर्वरक, इफको कर रही मदद

Economy
अब बिना कैश के किसान खरीदेंगे उर्वरक, इफको कर रही मदद

उर्वरक क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी सहकारी संस्था इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) ने नकदी के बिना उर्वरकों की खरीद की प्रक्रिया समझाने के लिए किसानों को प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया है। 

नई दिल्ली. उर्वरक क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी सहकारी संस्था इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) ने नकदी के बिना उर्वरकों की खरीद की प्रक्रिया समझाने के लिए किसानों को प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया है। नोटबंदी के बाद अपनी 36000 सदस्य सहकारी समितियों के माध्यम से इफको ने लगभग पांच करोड़ किसानों को नकदी के बिना उर्वरकों की खरीद की प्रक्रिया समझाने के लिए सहायता उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। 

गांवों में नकदी से लेनदेन 

गांवों में अधिकांश कारोबार नकदी लेनदेन के जरिए ही होता है। बुआई के दिनों में ज्यादातर किसान बीज और खाद जैसे खेती की जरूरी चीजें नकदी से ही खरीदते हैं। लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में ई-वॉलेट, मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग जैसी तकनीक की जानकारी के अभाव में किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसे देखते हुए इफको ने दादरी (यूपी), पलवल (हरियाणा) और देहरादून (उत्तराखंड) में संगोष्ठियां आयोजित की हैं। प्रत्येक संगोष्ठी में लगभग 500 किसानों ने हिस्सा लिया और किसानों ने पहली बार नकदी रहित लेनदेन करके बीज और उर्वरक खरीदा। इन संगोष्ठियों में रेलमंत्री सुरेश प्रभु, कृषिमंत्री राधा मोहन सिंह तथा इफको के विपणन निदेशक अरबिन्द राय और निदेशक (तकनीकी) एम.आर. पटेल ने किसानों को डिजिटल बैंकिंग के अधिकाधिक प्रयोग के लिए प्रोत्साहित किया। 

मजबूत होगी इकोनॉमी 

इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी ने 500 और 1000 रुपए के नोटों को प्रचलन से बाहर किए जाने के सरकार के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इससे भारत की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़, पारदर्शी, तकनीकी सक्षम और नकदी रहित बनाने में मदद मिलेगी। देशभर में फैले अपने विपणन कार्यालयों के जरिए इफको इस अभियान को आगे बढ़ाने में जुट गया है। किसानों को ऑनलाइन और डिजिटल माध्यमों से लेनदेन के साथ-साथ नकदी रहित लेनदेन के फायदे के बारे में भी जानकारी दी जा रही है। इफको के 50वें वर्ष में प्रवेश करने के अवसर पर कम्पनी के प्रबंध निदेशक देश भर में 125 स्थानों पर किसानों और सहकारी सदस्यों को संबोधित करेंगे। इन सभी स्थानों पर स्टॉल लगाकर किसानों को नकदी रहित लेनदेन के तरीके सिखाए जाएंगे तथा उनकी शंकाओं का समाधान किया जाएगा।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned