नई वीजा पॉलिसी मंजूर, व्यापार और पर्यटन को बड़ा फायदा

Economy
नई वीजा पॉलिसी मंजूर, व्यापार और पर्यटन को बड़ा फायदा

पर्यटन, कारोबार, स्वास्थ्य आदि को मिलाकर एक मल्टी-पर्पज एंट्री वीजा बनाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में ई-टूरिस्ट वीजा की सुविधा से आठ और देशों को जोड़ने का फैसला लिया गया है...

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने विदेशी व्यापार और पर्यटन के जरिए अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए नई उदार वीजा नीति को मंजूरी दी है। इसके तहत पर्यटन, कारोबार, स्वास्थ्य आदि को मिलाकर एक मल्टी-पर्पज एंट्री वीजा बनाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में ई-टूरिस्ट वीजा की सुविधा से आठ और देशों को जोड़ने का फैसला लिया गया है। अब ऐसा वीजा पा सकने वाले देशों की संख्या बढ़कर अब 158 हो जाएगी।

सिर्फ 60 दिन रुके तो वीजा शुल्क माफ

इस वीजा के तहत यदि कोई व्यक्ति अपनी यात्रा के दौरान केवल 60 दिन ही रुकता है तो सरकार उसका वीजा शुल्क भी माफ कर सकती है। हालांकि यात्री को अपनी बायोमीट्रिक जानकारियां देनी होगी और सुरक्षा दायित्वों को पूरा करना होगा।

टूरिज्म, बिजनेस और एक्सपोर्ट को फायदा

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत की मौजूदा वीजा व्यवस्था के उदारीकरण, सरलीकरण और तार्किकरण को अनुमति दी है। इन बदलावों का फैसला विभिन्न हितधारकों के साथ चर्चा के बाद विदेश मंत्रालय द्वारा किया गया। नई वीजा नीति से विदेशियों को पर्यटन, कारोबार और स्वास्थ्य के उद्देश्य से देश में प्रवेश करने वालों को आसानी होगी। इससे देश की आर्थिक वृद्धि को प्रोत्साहन मिलने और पर्यटन, स्वास्थ्य इत्यादि सेवाओं के निर्यात से आय बढ़ने की उम्मीद है। 

सरकारी योजनाओं को मिलेगा बूस्ट

नई नीति से ‘स्किल इंडिया’, ‘डिजिटल इंडिया’, ‘मेक इन इंडिया’ जैसी सरकार की प्रमुख योजनाओं के तहत कारोबार के लिए प्रवेश करने में भी आसानी होगी। रिलीज के मुताबिक, 'प्रधानमंत्री कार्यालय के विचार पर पहली बार वाणिज्य मंत्रालय द्वारा संज्ञान में लाए गए एक प्रस्ताव के मद्देनजर पर्यटक, कारोबारी और इलाज एवं सम्मेलन इत्यादि में भाग लेने भारत आने वाले लोगों को वीजा नई श्रेणी के तहत दिया जाएगा।'

सभी के लिए नहीं 10 साल का वीजा

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 'लंबी अवधि वाले बहुउद्देशीय प्रवेश वीजा को 10 वर्ष के लिए जारी किया जाएगा लेकिन इस श्रेणी के वीजा के तहत विदेशी व्यक्ति को यहां काम करने और स्थाई रूप से रहने की अनुमति नहीं होगी। 10 वर्षों की अवधि वाले वीजा चुनिंदा देश के नागरिकों को जारी होंगे शेष के लिए यह वीजा 5 वर्ष की अवधि का होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned