2022 में भारत दुनिया की चौथी बड़ी अर्थव्यवस्था होगा: IMF

Economy
2022 में भारत दुनिया की चौथी बड़ी अर्थव्यवस्था होगा: IMF

दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं की स्थिति को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की एक ताजा रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत 2022 में दुनिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

लंदन। दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं की स्थिति को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने इस सप्ताह एक ताजा रिपोर्ट पेश की है। इस रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था को पूरी दुनिया में तेजी से बढ़ती अर्थव्यस्था बताया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि भारतीय अर्थव्यवस्था इसी गति से बढ़ती रही तो 2022 में यह जमर्नी को पछाडक़र दुनिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। आईएमएफ ने यह रिपोर्अ सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के नॉमिनल टम्र्स के आधार पर पेश की है। आईएमएफ ने इस रिपोर्ट में भारत अपनी अर्थव्यवस्था के विकास की मौजूदा गति के आधार पर अगले पांच सालों में दुनिया की पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जाएगा। 

पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की फेहरिस्त से बाहर हो जाएगा ब्रिटेन
आईएमएफ की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2022 में भारत के प्रदर्शन के कारण जर्मनी एक पायदान खिसकर पांचवें पायदान पर पहुंच जाएगा। इस कारण अभी तक पांचवें स्थान पर काबिज ब्रिटेन पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की फेहरिस्त से बाहर हो जाएगा। ब्रिटेन के बाहर होने का सबसे बड़ा कारण इसके यूरोपीय संघ से बाहर होना माना जा रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोपीय संघ से बाहर होने के कारण ब्रिटेन की व्यापारिक साझेदारियां कम हुई हैं। इस कारण उसे आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। 

ब्रिटेन से पांच गुना तेजी से बढ़ रही भारतीय अर्थव्यवस्था
आईएमएफ की रिपोर्ट में कहा गया है भारत की अर्थव्यवस्था ब्रिटेन की तुलना में पांच गुना तेजी से बढ़ रही है। इस समय भारत की अर्थव्यवस्था सालाना 9.9 फीसदी की तेजी से बढ़ रही है। जबकि ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में दो प्रतिशत की बढ़ोतरी का ही अनुमान है।

अभी अमरीका है टॉप पर
18,100 अरब डॉलर के सकल घरेलू उत्पाद वाला अमरीका अभी इस सूची में टॉप पर है। इसके बाद 11, 200 अरब डॉलर की जीडीपी के साथ चीन दूसरे और 4200 अरब डॉलर की जीडीपी के साथ जापान तीसरे नंबर पर बना हुआ है। भारत का सकल घरेलू उत्पाद इस समय 2300 अरब डॉलर है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned