जानिए 500, 2,000 रुपए के नए नोटों की छपाई पर आई कितनी लागत

Economy
जानिए 500, 2,000 रुपए के नए नोटों की छपाई पर आई कितनी लागत

मेघवाल ने साथ ही यह भी कहा कि चूंकि अभी 5,00 और 2,000 रुपए के नए नोटों की छपाई पूरी नहीं हो सकी है, इसलिए नए नोटों की छपाई पर आई कुल लागत अभी बताना संभव नहीं है

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को बताया कि 500 रुपए के नए नोटों की छपाई पर 2.87 रुपए से 3.09 रुपए के बीच और 2,000 रुपए के नए नोटों की छपाई पर 3.54 रुपए से 3.77 रुपए के बीच लागत आई। सरकार ने बुधवार को सदन में यह जानकारी दी। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने राज्यसभा में अपने लिखित जवाब में कहा, 500 रुपए के हर नए नोट की छपाई पर 2.87 रुपए से 3.09 रुपए के बीच और 2,000 रुपए के हर नए नोट की छपाई पर 3.54 रुपये से 3.77 रुपए के बीच लागत आई।

मेघवाल ने साथ ही यह भी कहा कि चूंकि अभी 5,00 और 2,000 रुपए के नए नोटों की छपाई पूरी नहीं हो सकी है, इसलिए नए नोटों की छपाई पर आई कुल लागत अभी बताना संभव नहीं है। मेघवाल ने बताया कि 24 फरवरी तक देश में कुल प्रचलन मुद्रा 11.641 लाख करोड़ रुपए थी। उन्होंने बताया कि 10 दिसंबर, 2016 तक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) में कुल 12.44 लाख करोड़ रुपए राशि के पुराने नोट जमा हुए थे।


नोटबंदी पर बजाज की टिप्पणियां हर उद्योगपति की भावना का आईना : राहुल

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी पर बजाज ऑटो के प्रबंध निदेशक राजीव बजाज की आलोचना का समर्थन करते हुए शनिवार को कहा कि उनकी टिप्पणियां इस मुद्दे पर उस प्रत्येक उद्योगपति की भावना को जाहिर करती हैं, जो इस मुद्दे पर पर यही महसूस करते हैं, लेकिन उसे कह नहीं पाते हैं। बजाज ने सालाना नैसकॉम लीडरशिप फोरम में गुरुवार को नोटबंदी की आलोचना करते हुए कहा था, बड़े मूल्य के नोटों की वापसी का विचार अपने आप में गलत था और सिर्फ तामील को जिम्मेदार ठहराना गलत है। यदि समाधान या विचार सही है तो यह मक्खन पर गर्म छुरी की तरह काम करेगा, लेकिन अगर विचार काम नहीं कर रहा है, उदारहण के लिए नोटबंदी, तो इसके क्रियान्वयन को जिम्मेदार नहीं ठहराएं। मेरे विचार से यह विचार ही अपने आप में गलत था।

गांधी ने उनके इस वक्तव्य का समर्थन करते हुए कहा कि भारत का हर उद्योगपति यही महसूस करता है, लेकिन यह कह नहीं सकता। उन्होंने अपने ट्वीटर पर उस खबर को पोस्ट किया है, जिसमें बजाज ने ये टिप्पणियां की हैं। एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस नेता संजय झा ने पेप्सी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी इंदिरा नूयी की उस रिपोर्ट को रीट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि नोटबंदी ने भारत के व्यापार को तबाह कर दिया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की नाकामी ने व्यापार का बेड़ा गर्क कर दिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned