पेंशन योजनाओं में प्रदेश सरकार के पसीने छूटे, यह योजना हुई बंद

Shribabu Gupta

Publish: Jan, 09 2017 06:27:00 (IST)

Employee Corner
पेंशन योजनाओं में प्रदेश सरकार के पसीने छूटे, यह योजना हुई बंद

प्रदेश सरकार अब सामाजिक सुरक्षा योजना के 34 लाख हितग्राहियों को कैशलेस लेन-देन व्यवस्था से जोडऩे के लिए रुपे कार्ड दिलाएगी...

भोपाल। सामाजिक सुरक्षा पेंशन के बंटने में आ रही दिक्कतों के चलते शहडोल में शुरू की गई 'आपकी पेंशन, आपके द्वार' योजना प्रदेश सरकार बंद करने जा रही है। जानें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आखिर क्यों लिया है ये निर्णय...ऐसे में अब क्या करेंगे हितग्राही...

प्रदेश सरकार अब सामाजिक सुरक्षा योजना के 34 लाख हितग्राहियों को कैशलेस लेन-देन व्यवस्था से जोडऩे के लिए रुपे कार्ड दिलाएगी। साथ ही एक लाख रुपए का दुर्घटना बीमा भी कराया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सामाजिक न्याय विभाग की योजना को मंजूरी दे दी है। इसकी शुरुआत एक अप्रैल से होगी।

अप्रैल से लागू होगी योजना
विभाग के प्रमुख सचिव वीके बाथम ने बताया कि एक अप्रैल से पूरे प्रदेश में सामाजिक सुरक्षा योजना के हितग्राहियों को रुपे कार्ड बांटने की शुरुआत होगी। इसके साथ ही हितग्राहियों का बीमा भी हो जाएगा। इसमें सरकार के खजाने पर कोई भार भी नहीं आएगा।

दिक्कतों के बाद बंद की ये योजना
सूत्रों के मुताबिक सामाजिक सुरक्षा पेंशन के बंटने में आ रही दिक्कतों के चलते सरकार ने शहडोल में आपकी पेंशन, आपके द्वार योजना के माध्यम से नकद पेंशन देने की शुरुआत की थी।

इसे पूरे प्रदेश में लागू करने की तैयारी थी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कैशलेस व्यवस्था को बढ़ावा देने की मुहिम के चलते सरकार ने कदम पीछे खींच लिए हैं।

कलेक्टरों को दिए निर्देश
विभाग ने योजना बंद करने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री समन्वय में भेज दिया है। वहीं, कैशलेस व्यवस्था लागू करने 34 लाख हितग्राहियों को रुपे कार्ड देने का फैसला किया है। कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि वे हितग्राहियों का सत्यापन करके बैंकों से इन्हें रुपे कार्ड दिलवाएं।

ये बनाई रणनीति
मध्यप्रदेश में कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए चल रही कोशिशों के तहत बैंकों ने आगामी एक माह में 40 से 50 लाख डेबिट रुपे कार्ड बांटने की रणनीति बनाई गई है।

वहीं, धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर पीओएम (पॉइंट ऑफ सेल मशीन) लगाने का निर्णय लिया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned