नशे में टल्ली सिपाही ने जब कहा- CM Is Nothing, हमें 6-6 महीने नहीं देते सैलरी

Lucknow, Uttar Pradesh, India
 नशे में टल्ली सिपाही ने जब कहा- CM Is Nothing, हमें 6-6 महीने नहीं देते सैलरी

UP DGP Sulkhan Singhइन सिपाहियों ने CM Yogi Adityanath को भी नहीं छोड़ा। दोनों ने कहा कि वे पुलिस वालों की सैलरी 6-6 महीने बाद देते हैं। किसानों की बात नहीं सुनते। मैं किसी मुख्यमंत्री और योगी को नहीं जानता।

इटावा. उत्तर प्रदेश के डीजीपी सुलखान सिंह ने पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं कि कोई भी पुलिसवाला ड्यूटी के समय शराब का सेवन नहीं करेगा। पर यूपी पुलिस डीजीपी सुलखान सिंह के आदेश की धज्जियां उड़ाने से बाज नहीं आ रही है। यह पहला मामला नहीं है, जब पुलिस ने शराब पीकर तमाशा किया हो। पुलिस के लिए तो यह आम बात हो गई है। लिहाजा खाकी एक बार फिर नशे में दिखी। हाथ में शराब लिए ये पुलिसवाले प्रदेश की योगी सरकार और देश की सरकार को बेकार बताते हुए कह रहे हैं, कि हमें सरकार तनख्वाह नहीं देती। अपने आपको शहर के फ्रेंड्स कॉलोनी थाने में तैनात बताते हुए उनमें से एक विनोद यादव नाम के इस पुलिसवाले ने और भी कई आपत्तिजनक बातें कहीं।


देखें वीडियो:





शराब पीना बुरी बात नहीं

जानकारी के मुताबकि मामला इटावा जिले के सिविल लाइन थाने का है। जहां दो पुलिसकर्मी नुमाइश चौराहे के पास खुलेआम शराब पीते हुए मिले। दोनों पुलिसकर्मी शराब के नशे में इतने धुत थे कि वे कुछ साफ बोल तक नहीं पा रहे थे। वहीं जब उनसे नाम और थाने का पता पूछा तो एक पुलिसकर्मी ने अपना नाम विनोद यादव बताया और वह फ्रेंड्स कॉलोनी थाने में तैनात है। वहीं जब उससे खुलेआम शराब पीने के बारे में पूछा गया तो उसने कहा कि खुलेआम शराब पीना बुरी बात नहीं है। सड़क किनारे ठेके इसीलिए खुलवाए गए हैं। यहीं नहीं दोनों ने कहा कि शराबियों से सवाल न करो, इसे रोकना है तो शराब की बंदी कर दो।


सीएम को योगी पर किया कमेंट

नशे में धुत इन सिपाहियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी नहीं छोड़ा। दोनों ने कहा कि 'सीएम इज नथिंग' वो बिल्कुल अच्छे नहीं है। वे पुलिस वालों की सैलरी 6-6 महीने बाद देते हैं। किसानों की बात नहीं सुनते। मैं किसी मुख्यमंत्री और योगी को नहीं जानता।


यह भी पढ़ें:  राष्ट्रपति चुनाव के दिन ही रामनाथ कोविंद ने खेल दिया बड़ा दाव, मुलायम-शिवपाल ने पलटी बाजी


इसके पहले भी जिला पुलिस हुई है बदनाम

पुलिसकर्मियों का खुलेआम सड़क पर शराब पीने का ये कोई पहला वाक्या नहीं है। इससे पहले भी कई बार ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। जब इटावा पुलिस को इस प्रकार से शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है। हालांकि पहले की घटनाओं में दोषी पुलिसकर्मियों पर अधिकारियों ने तुरंत कार्रवाई भी की थी।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned