फेसबुक पर दोस्ती, लंदन में शादी और केरल आकर लड़की ने लिया तलाक

Europe
फेसबुक पर दोस्ती, लंदन में शादी और केरल आकर लड़की ने लिया तलाक

 ब्रिटेन में रहने वाली पाकिस्तानी मूल की मरियम खालिक भारतीय मूल के 34 वर्षीय नौशाद हुसैैन से फेसबुक पर मिली थी। 18 महीने के प्यार के बाद अप्रैल 2013 में दोनों ने शादी कर ली। पाकिस्तानी मूल की ब्रिटिश महिला मरियम खालिकने दो साल से गायब भारतीय पति को खोजकर उससे तलाक लिया। 

लंदन. पाकिस्तानी मूल की ब्रिटिश महिला मरियम खालिकने दो साल से गायब भारतीय पति को खोजकर उससे तलाक लिया। ब्रिटेन में रहने वाली पाकिस्तानी मूल की मरियम खालिक भारतीय मूल के 34 वर्षीय नौशाद हुसैैन से फेसबुक पर मिली थी। नौशाद उस समय स्कॉटलैंड में पढ़ाई कर रहा था। 18 महीने के प्यार के बाद अप्रैल 2013 में दोनों ने शादी कर ली। दोनों सालभर साथ भी रहे। इसके बाद नौशाद मरियम को छोड़कर भारत आ गया और कभी वापस नहीं गया। जबकि, नौशाद ने मरियम से वादा था कि वह अपने पैरेंट्स को उनकी शादी के लिए मना लेने के बाद ब्रिटेन लौट आएगा।

बंद कर दिया फोन उठाना
मरियम बताती है कि नौशाद ने मुझे केरल ले जाकर दोबारा पारंपरिक तरीके से शादी करने का वादा किया था। थोड़े दिनों बाद भारत आकर उसने मेरा फोन उठाना ही बंद कर दिया और मुझे अपने फेसबुक अकांउट पर भी ब्लॉक कर दिया।

पूरा पता भी नहीं था मालूम, फिर खोज निकाला
इसके बाद मरियम ने भारत आकर नौशाद को खोजने की ठानी, लेकिन उसके साथ बड़ी परेशानी यह थी कि उसके पास नौशाद का पूरा पता नहीं था। उन्हें बस ये पता था कि वो केरल के चावक्कड़ के निकट स्थित अकालड का निवासी है। मरियम कहती हैं, नौशाद ने मुझे अपने घर की तस्वीर दी थी, जिसमें बड़ा सा गेट लगा हुआ था। मरियम ने स्थानीय समाजसेवी संस्था की मदद से घर खोज निकाला।

कोर्ट ने किया न्याय, लेकिन मिली जिल्लत
मरियम जब जनवरी 2015 में पहली बार केरल नौशाद के घर पहुंचीं तो उसने उन्हें दोस्त मानने तक से इनकार कर दिया। नौशाद की मरियम ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करायी। स्थानीय कोर्ट ने आदेश दिया कि मरियम अपने पति के घर में रहने की हकदार है। फिर भी मुसीबतें खत्म नहीं हुईं, नौशाद के घर वाले उनके साथ गालीगलौज और दुव्र्यवहार करते। वो मरयिम के पाकिस्तानी मूल का होने का फायदा उठाकर भारत आने पर रोक लगावाना चाहते थै।

आखिर में तलाक लेकर चलीं गई
मरियम अक्टूबर 2015 में फिर भारत आईं। इस बीच नौशाद ने किसी और से निकाह कर लिया था। नौशाद की दूसरी बीवी के परिवार वाले उसे तलाक और पुलिस केस वापस लेने के बदले हर्जाना देने को तैयार थे। लंदन में अपनी शादी रद्द कराने के बाद इस साल 19 जनवरी को वो तीसरी बार केरल आईं। मरियम कहती हैं, "उसने किसी और औरत से शादी कर ली है तो दूसरी शादी का केस लडऩे का बहुत कम मतलब रह जाता है, इसलिए मैंने अदालत से बाहर समझौता करना मुनासिब समझा। मरियम द्वारा मुकदमा वापस लेने के बाद उसे समझौते के पैसे मिल गए और वो लंदन वापस लौट गई।

नौशाद ने वीजा की खातिर की थी शादी
नौशाद अब अबु धाबी में बस चुका है। उसका कहना है उसने मरियम से शादी ब्रिटेन का स्थायी वीजा पाने के लिए की थी। नौशाद ने कहा कि मैं 2010 में दो साल के वीजा पर ब्रिटेन गया था। जब मेरा वीज़ा खत्म होने वाला था तो मेरे पास उसे बढ़वाने का शादी ही एक तरीका था। नौशाद का कहना है कि उसने मरियम को बता दिया था कि वो उसके साथ नहीं रहना चाहता, लेकिन उसने इस रिश्ते को गंभीरता से ले लिया। इसके बाद मेरे पास भागने के सिवा कोई चारा नहीं था। नौशाद का दावा है कि उसने केरल पहुंचकर भी मरियम को बता दिया था कि वो ब्रिटेन वापस नहीं लौटेगा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned