नदी में गिरने के बाद बर्फ में जम गई लोमड़ी

Europe
नदी में गिरने के बाद बर्फ में जम गई लोमड़ी

 ठंडे इलाकों में रहने वाले जंगली जानवर बर्फ के आदी होते हैं, लेकिन नदी या तालाब जम जाए तो वे भी लाचार हो जाते हैं। ऐसी ही एक खबर रोमानिया से आई है। यहां पर एक लोमड़ी नदी पार करने की कोशिश कर रही थी। लेकिन वह इसमें सफल नहीं हुई और देखते ही देखते पानी के साथ जम गई। 

लंदन. भारत समेत दुनियाभर में इस वक्त कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हार कंपा देने वाली ठंक ने पूरी की पूरी नदी और झील तक को बर्फ में तब्दील कर दिया है। हालात ये हैं कि जो भी इस ठंड की जद में आता है, वह बर्फ में तब्दील हो जाता है। ठंडे इलाकों में रहने वाले जंगली जानवर बर्फ के आदी होते हैं, लेकिन नदी या तालाब जम जाए तो वे भी लाचार हो जाते हैं। ऐसी ही एक खबर रोमानिया से आई है। यहां पर एक लोमड़ी नदी पार करने की कोशिश कर रही थी। लेकिन वह इसमें सफल नहीं हुई और देखते ही देखते पानी के साथ जम गई। 

लोमड़ी चार दिन पहले फ्रिडिनजेन शहर के करीब डेन्यूब नदी को पार करने के दौरान डूब गई थी। अब उसका बर्फ में जमा हुआ शव बरामद हुआ है। फोटोग्राफर जोहानेस स्थेले ने लोमड़ी की तस्वीर को अपने कैमरे में कैद किया है। आरी की मदद से बर्फ को काटकर लोमड़ी के शव को निकाला गया। यूरोप में ठंड के चलते काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां लगातार आ रहे बर्फीले तूफानों और कम होते तापमान ने नदियों को जमा दिया है। रोमानिया को डेन्यूब नदी के जम जाने के कारण शिपिंग का काम रोकना पड़ा है। 

जम चुकी नदी से हिरण को बचाया गया

अमरीका में भी इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कनेक्टिकट राज्य में भारी हिमपात के बाद सर्दी ने सारी हदें तोड़ दी है। तापमान इतना गिर गया कि फॉर्मिंग्टन नदी भी जम गई है। यह जमी हुई नदी एक हिरण पर खूब भारी पड़ी। हिरन फिसल कर नहीं में फंस गया। काफी कोशिश करने के बाद निढाल सा हो गया। तभी वहां से गुजरते कुछ लोगों की नजर छटपटाते हिरण पर पड़ी। उन्होंने कंबल और रस्सियों के सहारे जमी हुई नदी से हिरण को सकुशल बाहर निकाला गया, तब जाकर उसकी जान बची।

अब तक सैकड़ों जनवरों की मौत
इस वक्त हिमपात के चलते उत्तर भारत समेत रूस, अमरीका और यूरोप के बड़े हिस्से में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। इंसानों के साथ इसकी मार जानवरों पर भी पड़ रही है। अलग अलग रिपोर्टों के मुताबिक यूरोप में ही अब तक सैकड़ों जानवर और 60 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned