मैमोरी गर्ल प्रेरणा शर्मा का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज

Yuvraj Singh

Publish: Jan, 21 2017 09:21:00 (IST)

Exam Tips & Tricks
 मैमोरी गर्ल प्रेरणा शर्मा का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में 
दर्ज

प्रेरणा ने 500 अंकों को अपनी मैमोरी में केवल 8 मिनट 33 सेकंड में फिक्स करके उल्टे व सीधे क्रम में सुना डाला

नई दिल्ली। अमेरिका के लेंस श्रेहार्ट का रिकॉर्ड तोड़कर मथुरा की मैमोरी गर्ल प्रेरणा शर्मा ने अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया है। प्रेरणा ने 500 अंकों को अपनी मैमोरी में केवल 8 मिनट 33 सेकंड में फिक्स करके उल्टे व सीधे क्रम में सुना डाला। इसके साथ ही उन्होंने यूएसए के लेंस श्रेहार्ट का रिकॉर्ड तोड़ दिया। नंबर ऑफ मेमोरी रिकॉर्ड के मामले में गिनीज बुक में दर्ज होने वाली प्रेरणा शर्मा पहली लड़की हैं।

20 वर्ष में बनाया विश्व रिकॉर्ड
मथुरा के सौंख रोड स्थित पद्मपुरी कालोनी में रहने वाले एक परिवार में प्रेरणा शर्मा पली बढ़ी है। प्रेरणा ने 20 वर्ष की उम्र में मैमोरी में विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया है। इससे पहले प्रेरणा एशिया बुक और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुकी हैं। वर्तमान में प्रेरणा शर्मा बीएसए कॉलेज से बीएससी कर रही हैं।

ट्यूशन के पैसे से की पढ़ाई
प्रेरणा के परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं है। फिर भी परिवार ने बड़ी मेहनत करके प्रेरणा को पढ़ाया। परिवार की स्थिति को देखते हुए प्रेरणा ने खुद जिम्मेदारी उठाई। प्रेरणा ने बताया कि परिवार में मम्मी और नानी हैं। तीन साल से वो बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर अपनी पढ़ाई की फीस दे रही हैं।  

प्रेरणा के परिवार में ख़ुशी
प्ररेणा की मां का कहना है कि जब से उनकी नौकरी चली गयी तब से बड़ी मुश्किल से उन्होंने प्ररेणा का पढ़ाया है। वो कहती हैं कि वो हमेशा गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज कराना चाहती थी। आज उसने अपना नाम गिनीज बुक में दर्ज करा दिया है। मुझे बहुत खुशी है कि मेरी बेटी ने परिवार का नाम ही नहीं बल्कि देश का नाम रोशन किया है।

गिनीज बुक में बनीं पहली लड़की  
पहली बार किसी लड़की ने गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। प्ररेणा ने बताया कि लिम्का बुक रिकॉर्ड में उन्होंने नौ अगस्त को अपना नाम दर्ज कराया था। इंडियन बुक रिकॉर्ड में चंडीगढ का रिकॉर्ड ब्रेक किया था। एशिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में प्ररेणा ने अव्यक्त नाम का रिकॉर्ड ब्रेक किया था। प्रेरणा ने बताया कि गिनीअब तक वो पांच रिकॉर्ड बना चुकी हैं।

आईएएस बनने का सपना
मैमोरी गर्ल प्रेरणा का सपना आईएएस बनना है। उसका कहना है कि वो आईएएस बनना चाहती है। आगे भी इसी तरह के रिकॉर्ड बनाउंगी। गिनीज बुक में नाम दर्ज होने पर प्रेरणा बेहद खुश है। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि मैंने देश के लिए कुछ किया है।

वीडियो-



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned