नीट परीक्षा की निर्धारित आयु सीमा को चुनौती

Jameel Khan

Publish: Feb, 16 2017 10:24:00 (IST)

Exam
नीट परीक्षा की निर्धारित आयु सीमा को चुनौती

याचिका में कहा गया था कि अधिकतम और न्यूनतम आयु निर्धारित करने की तिथि में समानता होनी चाहिए

जबलपुर। नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट (नीट) में शामिल होने के लिए निर्धारित की गई तिथि को चुनौती देने वाली याचिका पर गुरुवार को मध्यप्रदेश हाई कोर्ट के न्यायाधीश एस के गंगेले और ए के श्रीवास्तव की युगलपीठ ने अनावेदकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। याचिकाकर्ता दीपिका उपाध्याय की तरफ से दायर याचिका में कहा गया है कि नीट के लिए आयु सीमा निर्धारित की गई है।

निर्धारित आयु सीमा के अनुसार परीक्षा में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु 17 तथा अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए। अधिकतम आयु के लिए जन्म तिथि 8 मई 1992 तथा न्यूनतम आयु के लिए जन्म तिथि 1 जनवरी 2001 निर्धारित की गई है।

याचिका में कहा गया था कि अधिकतम और न्यूनतम आयु निर्धारित करने की तिथि में समानता होनी चाहिए। अधिकतम के लिए मई की तिथि तथा न्यूनतम माह के लिए जनवरी की तिथि निर्धारित किया जाना असंवैधानिक है। याचिका में कहा गया है कि न्यूनतम और अधिकतम उम्र सीमा के आठ वर्ष का अंतर है, तो तिथि निर्धारण में भी आठ वर्ष का अंतर होना चाहिए।

याचिका में केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) तथा नीट के सचिव को अनावेदक बनाया गया था। युगलपीठ ने याचिका की सुनवाई के बाद अनावेदकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned