अयोध्या में कोरियाई पार्क के लिए प्रदेश सरकार ने दिए 56 करोड़ रुपये

Faizabad, Uttar Pradesh, India
 अयोध्या में कोरियाई पार्क के लिए प्रदेश सरकार ने दिए 56 करोड़ रुपये

भारत और कोरिया सरकार के संयुक्त प्रयास से अयोध्या में बनेगा कोरियन पार्क

फैज़ाबाद । मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन नगरी अयोध्या वैसे तो हिंदू मुस्लिम सिख और जैन धर्म के गुरुओं और और प्रवर्तकों की भूमि रही है लेकिन अब इस पावन नगरी में कोरियाई सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश की सरकार के साथ मिलकर एक ऐसे पार्क का निर्माण कराया जाएगा जो अयोध्या में पर्यटन की दृष्टि से बेहद अहम किरदार निभा आएगा इस योजना को धरातल पर लाने के लिए कोरियाई सरकार का विशेष प्रतिनिधि मंडल फैजाबाद पहुंचा है और इस प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश सरकार के अधिकारियों के साथ मुलाकात कर इस योजना को शुरू करने के लिए पहल भी शुरू कर दी है ।

Korean Deligation

भारत और कोरिया सरकार के संयुक्त प्रयास से अयोध्या में बनेगा पार्क 

अयोध्या और कोरिया के बीच सांस्कृतिक संबंधों को मजबूत करने के लिए भगवान श्री राम की पावन नगरी अयोध्या के सरयू  के किनारे बने कोरिया की महारानी हो के स्मारक को उच्चीकृत कर इसे एक हाई टेक पार्क के रूप में विकसित करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने छप्पन करोड़ रुपए की स्वीकृति कर दी है वहीं दिल्ली सरकार ने भी अयोध्या में प्रस्तावित इस पार्क के प्रतिरूप के निर्माण के लिए जमीन दे दी है । अयोध्या शोध संस्थान के निदेशक डॉ वाईपी सिंह के मुताबिक अयोध्या और कोरिया के सांस्कृतिक संबंधों के प्रमाण के रूप में सरयू तट  के किनारे बने महारानी हो के स्मारक को कोरियाई सरकार ने भारत सरकार से विस्तारित कर पार्क निर्माण का प्रस्ताव दिया था जिसके बाद भारत सरकार ने इस पार के निर्माण के लिए पहले चरण में डिजाइन बनाने के लिए 5 करोड रुपए निर्गत किए थे जिसके तहत 5 माह पूर्व कोरियाई आर्किटेक्ट विशेषज्ञों के प्रतिनिधिमंडल की मौजूदगी के लिए प्रस्तावित भूमि का चयन कर उसकी नाप कराई गई थी जिसके बाद कोरियाई सरकार ने ग्लोबल टेंडर निकाला जिसके बाद प्रदेश के पर्यटन सचिव नवनीत सहगल और उनकी आर्किटेक्ट पत्नी वंदना सहगल कोरिया के सियोल शहर गए और वहां पर कोरियाई अधिकारियों की मौजूदगी में ग्लोबल टैंडर हुआ ।

Korean Deligation

महारानी हो के शादी की सालगिरह के 2000 वर्ष पूरे होने पर आयोजित समारोह में योजना को मिला बल

बीते माह  की 5 नवंबर को पर्यटन सचिव के साथ कमिश्नर फैजाबाद सहित अन्य भारतीय अधिकारी महारानी हो के विवाह के 2000 वर्ष पूर्ण होने पर कोरिया के किम हे शहर में आयोजित विशेष आयोजन में शामिल होने कोरिया पहुंचे जहां पर इस योजना को लेकर चर्चा की गई और कोरियाई अधिकारियों को इस पूरी योजना को धरातल पर लाने के लिए भारत आने के लिए आमंत्रित किया गया । जिसके बाद बीते मंगलवार को कोरियाई प्रतिनिधिमंडल लखनऊ पहुंचा था जहां प्रदेश सरकार के अधिकारियों के साथ मुलाकात के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने इस पार्क के निर्माण की योजना को लेकर छप्पन करोड़ रुपए की धनराज सिंह आवंटित कर दी है उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इस योजना पर काम शुरू हो जाएगा ।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned