इस विधानसभा से मुलायम का है खास रिश्ता, आज भी है इंतजार

Firozabad, Uttar Pradesh, India
इस विधानसभा से मुलायम का है खास रिश्ता, आज भी है इंतजार

तीन विधानसभा से जीत मिलने पर इस सीट को मुलायम सिंह यादव ने अपने पास रखा था उन्होंने दोबारा लड़ने का वादा भी किया था।

फिरोजाबाद। फिरोजाबाद जिले की शिकोहाबाद विधानसभा सैफई परिवार के लिए शुरू से ही खास रही है। शिकोहाबाद क्षेत्र यादव बाहुल्य क्षेत्र माना जाता है। वर्ष 1993 में मुलायम सिंह यादव शिकोहाबाद के अलावा निधौली कलां और जसवंतनगर से चुनाव लड़े थे। शिकोहाबाद विधानसभा से मुलायम सिंह यादव को भारी बहुमत मिला था। शिकोहाबाद से जीतने पर मुलायम सिंह ने निधौली कलां और जसवंतनगर सीट को छोड़ दिया था।

मुलायम ने जीत दर्ज कर बना दिया सपा गढ़
वर्ष 2002 में मुलायम सिंह यादव सपा प्रत्याशी हरिओम यादव के समर्थन में वोट मांगने पहुंचे थे। मुलायम सिंह यादव ने यहां तक कहा था कि आप हरिओम यादव को जिताओ तो मैं दोबारा इस विधानसभा से चुनाव लड़ने आऊंगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं। एक बार जीतने के बाद मुलायम सिंह यादव ने इस सीट की ओर दोबारा मुड़कर नहीं देखा। मुलायम सिंह यादव के चुनाव लड़ने के बाद इस विधानसभा को सपा का गढ़ माना जाने लगा।

2007 में अशोक यादव भी जीत चुके हैं

वर्ष 2007 में इस सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी अशोक यादव ने जीत दर्ज की लेकिन 2012 के विधानसभा चुनाव में शिकोहाबाद सीट दोबारा सपा के खाते में चली गई। 2002 में इस सीट से चुनाव जीतने वाले सपा प्रत्याशी हरिओम यादव को 2012 में नई विधानसभा सिरसागंज भेज दिया गया। जहां उन्न्होंने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की।

मुलायम ने पूरा नहीं किया वादा
वर्ष 2002 में सपा प्रत्याशी हरिओम यादव की जीत के बाद मुलायम सिंह यादव ने शिकोहाबाद की जनता से दोबारा इस विधानसभा से चुनाव लड़ने का वादा किया था लेकिन वह वादा आज तक पूरा नहीं हो सका है। शिकोहाबाद विधानसभा क्षेत्र की जनता आज भी मुलायम सिंह यादव के इस सीट पर चुनाव लड़ने की बांट जोह रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned