बोले डीएम-गुण्डा एक्ट एवं गैंगस्टर में जेल जाएगें भूमाफिया

Ashish Pandey

Publish: Jun, 20 2017 10:17:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
बोले डीएम-गुण्डा एक्ट एवं गैंगस्टर में जेल जाएगें भूमाफिया

दो दिन के भीतर मांगी भूमाफियाओं की सूची। 

गोंडा. सरकार के निर्देशों के क्रम में गठित एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स की रिपोर्ट के बाद जिले में जल्द ही भूमाफियाओं के खिलाफ  कठोर कार्यवाही शुरू होने जा रही है। डीएम जेबी सिंह ने जनपद की चारों तहसीलों के एसडीएम से दो दिन के भीतर भूमाफियाओं की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्ट्रेट सभागार में एसपी उमेश कुमार सिंह एवं अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर डीएम ने दो दिन के भीतर भूमाफियाओं की सही सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने स्पष्ट कहा कि सरकारी जमीनों अथवा किसी भी प्राइवेट जमीन पर भी अवैध रूप से कब्जे करने वालों को सूची में शामिल करें। अन्य विभागीय अधिकारियों को उन्होने सख्त निर्देश दिए हैं कि उनके विभागों की जमीनों पर यदि किसी भी दबंग व्यक्ति द्वारा अवैध कब्जा किया गया हो तो वे अपनी तहसील के उपजिलाधिकारी को मंगलवार शाम तक रिपोर्ट दें दे जिससे उसे एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स द्वारा की जाने वाली कार्यवाही में  शामिल कर ऐसी सरकारी जमीनों को खाली कराया जा सके। डीएम ने निर्देश दिए हैं कि भूमाफियाओं से अवैध कब्जे खाली के साथ ही उनके खिलाफ  गुण्डा एक्ट एवं आवश्यकतानुसार गैंगस्टर की कार्यवाही करें। 

सरकारी जमीनों पर कब्जे कर कोर्ट से सटे आदि लेकर मामले लटकाने वाले प्रकरणों में तत्काल स्टे खारिज कराने तथा ऐसी जमीनों को कब्जामुक्त कराने के आदेश अधिकारियों को दिए गए हैं। उन्होने सभी एसडीएम को तहसील स्तर पर गठित एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स की बैठक समस्त राजस्व निरीक्षकों, लेखपालों, पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं टास्क फोर्स के अन्य समबन्धित अधिकारियों या सदस्यों के साथ बैठक करने प्रभावी कार्यवाही करने की रणनीति तैयार करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में आइटीआई प्रिन्सपल ए0के0 मधुर द्वारा सरकारी कार्य में बाधा डालने की शिकायत पर डीएम ने बैठक में ही जमकर फटकार लगाई और निलम्बित कर जेल भेजने की चेतावनी दी है। 

उन्होने सभी अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी है कि सरकार की मंशानुसार विना दबाव एवं पक्षपात के भूमाफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करनी है। यदि किसी भी अधिकारी की किसी भी स्तर पर शिथिलता या लापरवाही पाई गई तो निश्चित ही निलम्बन एवं विभागीय कार्यवाही के लिए तैयार रहें। डीएम ने सभी एसडीएम को सबसे पहले चारागाह, खलिहान, सरकारी जमीनों जैसे पीडब्लूडी, वन विभाग, सिंचाई विभाग, नजूल व अन्य बड़े कब्जे करने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। उन्होने कहा कि दो दिन के भीतर भूमाफियाओं की सटीक सूची हर हाल में उन्हें उपलब्ध करा दें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned