रियाद में आईएस आतंकी ढेर

Gulf
रियाद में आईएस आतंकी ढेर

मेजर जनरल मंसूर अल-तुर्की ने बताया, यह घटना तब हुई जब एक सुरक्षा गश्ती दल ने अल-रयान अपार्टमेंट की जांच की, जहां दो शख्स आतंकी संगठन का समर्थन करते पाए गए

रियाद। सऊदी गृह मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के एक संदिग्ध सदस्य को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है, जबकि एक अन्य आतंकी को हिरासत में ले लिया है। मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल मंसूर अल-तुर्की ने बताया, यह घटना तब हुई जब एक सुरक्षा गश्ती दल ने अल-रयान अपार्टमेंट की जांच की, जहां दो शख्स आतंकी संगठन का समर्थन करते पाए गए।

बयान के मुताबिक, गिरफ्तारी के दौरान संदिग्ध ने पुलिस अधिकारियों पर हथियार तान दिया। अल-तुर्की ने कहा कि सुरक्षा बलों ने उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया और उनके हथियार जब्त कर लिए।

IS ने अपनाई नई रणनीति; बच्चों-दिव्यांगों से चलवाई जा रही हैं आत्मघाती कारें
वॉशिंगटन। आतंकी संगठन आईएसआई के जिहादी मोसुल में बच्चों और दिव्यांगों को आत्मघाती हमलावर के तौर पर तैयार कर रहा है। इन बच्चों को विस्फोटकों से लदे ट्रक को चलाकर इराकी सुरक्षा बलों तक ले जाने के लिए मजबूर किया जा रहा है। अमरीकी वायु सेना के ब्रिगेडियर जनरल मैट इसलेर ने इस बात का खुलासा किया है।

मैट इसलेर का कहना है कि आईएस ने आत्मघाती कार बमों में इस तरह की आक्रामक और नई तकनीक को अपनाया है। हमने बच्चों को वीबीआईईडी में चालक के रूप में देखा है। इनमें से कुछ बच्चे शारीरिक रूप से अक्षम थे। इस्लामिक स्टेट की रणनीति पर नजर रखने वाले जानकारों का कहना है कि आतंकी संगठन यह जान चुका है कि उसकी हार निश्चित है। ऐसे में वो हमले की नई तकनीक अपना रहा है।

IS इराक में कर चुका है इस तकनीक का इस्तेमाल
इस्लामिक स्टेट के जिहादियों की तरफ से इस्तेमाल किए जाने वाले विस्फोटक ट्रकों को 'वीबीआईईडी' कहा जाता है। इनमें लगे विस्फोटकों को च्वी-बीड्सज् के नाम से जाना जाता है। जिहादी मोसुल और इराक में हमले के लिए इस तकनीक का कई बार इस्तेमाल कर चुके हैं।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned