पंद्रह गांवों में टलेगा जल संकट, रखी आधारशिला 

Bhalender Malhotra

Publish: Oct, 18 2016 11:14:00 (IST)

Guna, Madhya Pradesh, India
पंद्रह गांवों में टलेगा जल संकट, रखी आधारशिला 

15 गांवों से सूखे की स्थिति को हमेशा के लिए टालने हाथीपुरा सिंचाई परियोजना की नींव रखी


चांचौड़ा. क्षेत्र के 15 गांवों से सूखे की स्थिति को हमेशा के लिए टालने मंगलवार को हाथीपुरा सिंचाई परियोजना की नींव रखी गई। दो करोड़ 6 लाख रुपए की लागत वाली इस परियोजना का भूमिपूजन विधायक ममता मीना द्वारा किया गया। सुबह 11 बजे विधायक हाथीपुरा गांव पहुंची, ग्रामीणों ने ढोल-ढमाकों से उनका स्वागत किया। गांवों से जलसंकट को दूर करने वाली परिजयोजना को लेकर ग्रामीणों में उत्साह देखने मिला।

परियोजना की आधारशिला रखने के बाद विधायक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गांवों का सर्वांगीण विकास करने की दिशा में प्रतिबद्ध हैं। जिस प्रकार एक-एक गांव की चिंता की जा रही है। उससे ये लगता है कि आने वाले पांच वर्षों में सभी गांव सड़क, बिजली, पानी जैसी मूलभूत जरूरतों के मोहताज नहीं रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि जब वह विधायक बनी थीं, तब से ही उनके मन में हर साल पानी से जूझते गांवों को लेकर चिंता थी।

 जब इस चिंता से मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया, तो उन्होंने जल संसाधन विभाग के माध्यम से हाथीपुरा सिंचाई परियोजना तैयार कराई। परियोजना से करीब 15 गांवों की चिंता एक साथ समाप्त होगी। इस अवसर पर रामसेवक मीना, नाथूलाल मीना, हरिबहादुर, भगवान सिंह, मुरारीलाल, हरज्ञान सिंह गुर्जर, बृजमोहन मैथिल, बाबूलाल सेन, रणछोड़दास काबरा, नरेंद्र शर्मा, दीपक मीना सहित सिंचाई विभाग के अधिकारी-कर्मचारी एवं ग्रामीणजन मौजूद थे।   

इन गांवों को मिलेगा लाभ
हाथीपुरा गांव में दो करोड़ 6 लाख रूपए की लागत से बनने वाले तालाब से 15 गांव लाभांवित होंगे। जल संसाधन विभाग के इंजीनियर तालाब निर्माण की सतत् मानिटरिंग करेंगे। एक साल के भीतर ये तालाब बन जाएगा, जिससे बकान्या, मोईया, लामापठार, पंडित का पुरा, बेड़ावेह, नीलवेह, सोजीपुरा, टटूजखेड़ी, गादिया, बोलीपुरा, सोली, जामोन्या सहित 15 गांवों की फसलों को सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि जिले में अभी 100 से अधिक छोटे बड़े तालाबों से सिंचाई होती है। विभाग की कुछ परियोजनाएं ही बड़ी हैं। शेष परियोजना काफी छोटी हैं, इससे सिंचाई कम हो पाती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned