कुंभराज में राम-केवट संवाद, धरनावदा में हुआ धनुष यज्ञ

Bhalender Malhotra

Publish: Oct, 18 2016 11:20:00 (IST)

Guna, Madhya Pradesh, India
कुंभराज में राम-केवट संवाद, धरनावदा में हुआ धनुष यज्ञ

नगर में श्रीहनुमान रामलीला मंडल द्वारा रामलीला का किया जा रहा आयोजन, बड़ी संख्या में मौजूद थे दर्शन

कुंभराज. नगर में चल रही रामलीला में सोमवार को भगवान राम-केवट संवाद का रोचक मंचन किया गया। इससे पहले भगवान के वनगमन की लीला का मंचन किया गया। नगर में श्रीहनुमान रामलीला मंडल द्वारा रामलीला की जा रही है। रामलीला में भगवान राम, केवट से गंगा पार करने का अनुरोध करते हैं केवट भगवान के पैर धोने की हट करता है।

दोनों के बीच मनोरम संवाद होता है और आखिर में भगवान मान जाते हैं। केवट ने भगवान के पैर धोए और गंगा पार कराया। रामलीला में राम का अभिनय रविंद्र कश्यप, लक्ष्मण अटल शर्मा, कैकई रामहेत मीना, मुनियों में भारत सिंह गुर्जर, महेंंद्र नामदेव, सुमंत गोपी बुनकर कर रहे हैं। इसी तरह केवट घनश्याम केवट,  दशरथ संजीव शर्मा, नारद मुरारी मीना के उत्कृष्ट और धारप्रवाह अभिनय ने लीला को और भी आकर्षक बना दिया है। रामलीला की शुरुआत भारत माता की आरती से होती है। उधर, लोगों में रामलीला को लेकर रोमांच बढ़ता जा रहा है।

40 साल से लगातार बन रहे जनक
धरनावदा. गांव में चल रही रामलीला में एक पात्र नंदू जैन पिछले 40 साल से लगातार अभिनय कर रहे हैं। वह जब छोटे थे, तब लेकर अभी तक राजा जनक का अभिनय करते आ रहे हैं। लोगों ने बताया कि उनका अभिनय लोगों में ऊर्जा भर देता है। कलाकारों में सौरभ शर्मा, कल्लू चौहान, नंदू जैन, कल्लू ओझा, मुनेश शर्मा, सर्जन चंदेल आदि शामिल हैं, जो हर दिन विभिन्न पात्रों का अभिनय कर लोगों को भगवान की लीला बताते हैं। लोगों ने बताया कि गांव में लगातार 40 वर्षों से रामलीला हो रही है। गांव में गढ़ी स्थित रामलीला परिसर में यह मंचन होता है। रामलीला को देखने आसपास के गांवों से भी दर्शक आते हैं।

धरनावदा में लक्ष्मण परशुराम संवाद
धरनावदा. कस्बे में चल रही रामलीला में लक्ष्मण और परशुराम के बीच हुए संवाद का रोचक मंचन हुआ। धनुष यज्ञ में भगवान राम द्वारा धनुष भंग करने पर भगवान परशुराम भड़क गए। फिर लक्ष्मण और परशुराम के बीच संवाद हुआ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned