मां बगुलामुखी का फिर चमत्कार, 11वें दिन बन गए राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

gwalior
मां बगुलामुखी का फिर चमत्कार, 11वें दिन बन गए राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद 9 जून को दतिया में आए थे। यहां उन्होंने पीतांबरा पीठ में विशेष अनुष्ठान किया था और फिर वे विशेष विमान से वापस पटना चले गए।


ग्वालियर। एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद 9 जून को दतिया में आए थे। यहां उन्होंने पीतांबरा पीठ में विशेष अनुष्ठान किया था और फिर वे विशेष विमान से वापस पटना चले गए। रामनाथ कोविंद का दतिया में मां पीतांबरा से विशेष लगाव है। वह यहां एक बार नहीं बल्कि 11 बार माई के दरबार में आ चुके हैं। बताया जा रहा है कि वह 9 जून को राष्ट्रपति पद के लिए अर्जी लगाने ही दतिया आए। वहीं उनका मां पीतांबरा से विशेष लगाव भी है।

इसके लिए वह ११ बार मां के दरबार में आ चुके हैं। राष्ट्रपति राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के दतिया आगमन की तैयारियों के बीच वह पत्नी सविता कोविंद के साथ पीतांबरा पीठ आए थे और राष्ट्रपति मुखर्जी १०जून को दतिया आए थे। दतिया प्रवास के दौरान उन्होंने कोविंद ने सपत्नीक पीतांबरा पीठ पर पूजा-अर्चना की थी। 


ramnath kovind

बिहार के गर्वनर कोविंद भाजपा दलित मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। साथ ही दो बार राज्यसभा के सांसद रह चुके कोविंद का नाम भी गर्वनर के लिए अचानक तय हुआ था। वहीं वह भाजपा के दलित चेहरा भी है।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned