18 लाख की फेंसाड्रिल पकड़ी

Gwalior, Madhya Pradesh, India
18 लाख की फेंसाड्रिल पकड़ी

खासी की प्रतिबंधित दवा फेंसाड्रिल दवा कोतवाली थाने के ठीक सामने गोदाम में छिपाकर रखी गई। दवा तस्कर बुधवार को करीब 18 लाख की नशीली दवा बोरियों में पैक कर दूसरे ठिकाने पर शिफ्ट करते पकड़े गए। इन्होंने बताया, वह तो नौकर हैं, मनाही के बावजूद फेंसाड्रिल का धंधा उनका सेठ कर रहा है।

ग्वालियर . खासी की प्रतिबंधित दवा फेंसाड्रिल दवा कोतवाली थाने के ठीक सामने गोदाम में छिपाकर रखी गई। दवा तस्कर बुधवार को करीब 18 लाख की नशीली दवा बोरियों में पैक कर दूसरे ठिकाने पर शिफ्ट करते पकड़े गए। इन्होंने बताया, वह तो नौकर हैं, मनाही के बावजूद फेंसाड्रिल का धंधा उनका सेठ कर रहा है। सेठ के कहने पर ही दवा यहां से हटा रहे थे। कोतवाली टीआई सुधीर सिंह कुशवाह ने बताया, थाने के सामने बालाबाई का बाजार मुरैना निवासी गोपालदास गुप्ता की फर्मा एजेंसी के नाम से दवा की दुकान है। दूसरी दवाईयों की आड में गोपाल फेंसाड्रिल का कारोबार भी कर रहा था। बुधवार को उसका सेल्समैन राजू बाल्मीक और कमल किशोर करीब 100 पेटी (18000 शीशी) फेंसाड्रिल  दुकान से उठाकर अतीक अहमद के लोडिग़ वाहन (एमपी 07 जी 6538) में ले जा रहे थे। दवा नजर में नहीं आए इसलिए इन्होंने पेटियों को  बोरियों में पैक कर रहा था। पकड़ी गई दवा की कीमत करीब 18 लाख रुपए है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned