भक्तों की मर्जी पर चलते हैं महादेव यहां, जिस ओर भक्त चाहें वहीं मुड़ जाता है शिवलिंग

Gwalior, Madhya Pradesh, India
भक्तों की मर्जी पर चलते हैं महादेव यहां, जिस ओर भक्त चाहें वहीं मुड़ जाता है शिवलिंग

आज सावन का दूसरा सोमवार है और अंचल के सभी मंदिरों में शिवभक्तों की भीड़ लगी हुई है। इस मौके पर हम आपको श्योपुर के ऐसे अनूठे शिवमंदिर से रूबरू कराने जा रहे है, जहां महादेव अपने भक्तों की मर्जी से चलते हैं। जहां शिवजी के भक्त चाहते हैं शिवलिंग की जलहरी वहीं घूम जाती है।

ग्वालियर। आज सावन का दूसरा सोमवार है और अंचल के सभी मंदिरों में शिवभक्तों की भीड़ लगी हुई है। इस मौके पर हम आपको श्योपुर के ऐसे अनूठे शिवमंदिर से रूबरू कराने जा रहे है, जहां महादेव अपने भक्तों की मर्जी से चलते हैं। जहां शिवजी के भक्त चाहते हैं शिवलिंग की जलहरी वहीं घूम जाती है।





भक्तों की मर्जी  से घूम जाता है शिवलिंग
शिवलिंग की जलहरी सामान्यत उत्तर की ओर रखी जाती है। कुछ विशेष मंदिरों में जलहरी  दक्षिण दिशा की ओर हो जाती है। लेकिल श्योपुर में एक ऐसा अनूठा शिवमंदिर है शिवलिंग को भक्त अपनी सहूलियत से घुमाकर किसी भी दिशा में उनका मुख ले जा सकते हैं।


300 साल पुराना है ये शिवलिंग
श्योपुर के छार बाग मोहल्ला में स्थित ये मंदिर 300 साल पुराना है। इस शिवलिंग को गौड़ राजा सोलापुर से श्योपुर लाए थे और उन्होंने यहां शिवलिंग की विधि विधान से पूजा की और स्थापना कराई।  घूमने वाले इस शिवलिंग की प्राण-प्रतिष्ठा श्योपुर के गौड़ वंशीय राजा पुरुषोत्तम दास ने सन् 1722 में करवाई थी, इसका उल्लेख इस मंदिर में लगे शिलापट्ट पर भी अंकित है।



इस शिवालय को अब गोविंदेश्वर महादेव के नाम से जाना जाता है। इससे पूर्व यह शिवलिंग सोलापुर महाराष्ट्र में बाम्बेश्वर महादेव के रूप में स्थापित था। गौड़ राजा शिवभक्त थे। उन्होंने शिवनगरी के रूप में शिवपुर (अब श्योपुर) नगर बसाया।इस शिवलिंग की खासियत ये है कि श्रद्धालु अपनी इच्छा के मुताबिक शिवलिंग की जलहरी को दिशा देकर भोलेनाथ को रिझाते हैं।


लाल पत्थर से बना है शिवलिंग
शिवलिंग लाल पत्थर का बना हुआ है। यह दो भाग में विभाजित है। एक पिंडी और दूसरा जलहरी।
 यह शिवलिंग नीचे एक आकार में बनी पत्थर की धुरी पर टिका हुआ है। अपनी धुरी पर यह शिवलिंग चारों तरफ घूम जाता है। मंदिर में आने वाले भक्त शिवलिंग को अपनी सुविधानुसार घुमाकर पूजा कर लेते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned