2011 से शुरू हुआ एस्केलेटर का कार्य, 2017 तक सिर्फ गड्डे ही खुदे

Gwalior, Madhya Pradesh, India
2011 से शुरू हुआ एस्केलेटर का कार्य, 2017 तक सिर्फ गड्डे ही खुदे

रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए एस्केलेटर का कार्य 21 अप्रैल से शुरू होना था, लेकिन रेलवे द्वारा ब्लॉक न मिलने के कारण...

ग्वालियर. रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए एस्केलेटर का कार्य 21 अप्रैल से शुरू होना था, लेकिन रेलवे द्वारा ब्लॉक न मिलने के कारण यह कार्य शुरू नहीं हो सका। कंपनी ने रेलवे अधिकारियों से तीन दिनों तक चार-चार घंटे कार्य पूरा करने कुछ दिन पूर्व ही ब्लॉक मांगा था। अपनी कछुआ चाल की वजह से एस्केलेटर का सामान पिछले आठ माह से प्लेटफॉर्म एक और चार पर धूल खा रहा है। एस्केलेटर के नाम पर अभी तक कंपनी ने प्लेटफॉर्म एक और दो तीन पर बड़े-बड़े गड्डे करके छोड़ दिए हैं। इससे यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एस्केलेटर का काम वर्ष 2011 में शुरू किया गया था। ग्वालियर सहित आगरा, झांसी व अन्य रेलवे स्टेशनों पर एक साथ काम शुरू किया गया था। उसमें से केवल ग्वालियर स्टेशन ही ऐसा है जहां यह काम शुरू नहीं हो सका, जबकि आगरा और झांसी स्टेशनों पर यह शुरू हो गया है।

प्लेटफार्म तीन पर खुद रहे है गड्डे 
प्लेटफॉर्म एक पर पिछले काफी समय से एस्केलेटर के लिए काम बंद पड़ा हुआ है। वहीं तीन नंबर पर कुछ दिनों से गड्डे खोदने का कार्य चल रहा है। इसके लिए प्लेटफॉर्म चार पर एस्केलेटर का सामान को तीन नं. पर शिफ्ट किया जाएगा। इसके बाद मशीनों को असेंबल कर इसे शुरू किया जाएगा। इसके बाद प्लेटफॉर्म एक पर पिलर के काम के बाद इसे शुरू किया जाएगा।
 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned